हमारे जीवन में विष घोल रहा लेड (सीसा): प्रो. मेहदी

    0
    722

    लखनऊ 3 मार्च 2020 शिया पी.जी.कॉलेज में आज एम.एम.हुसैन मेमोरियल व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें विषय विशेषज्ञ के रूप में किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के बायोकमेस्ट्री के विभागाध्यक्ष प्रो. डॉक्टर अब्बास अली मेहदी, पूर्व कुलपति एरा विश्वविद्यालय उपस्थित रहे।

    इस अवसर पर केजीएमयू के पूर्व कुलपति डाॅ. के.एम. सिंह, डाॅ. फरज़ाना मेहदी, कुलपति एरा विश्वविद्यालय, विशिष्ट अतिथि आई.आई.एम.अहमदाबाद में शिक्षक रहे प्रो.सैयदान,प्राचार्य प्रो.तलअत हुसैन नक़वी और डाॅ.अली साजिद हुसैन आदि उपस्थित रहे। व्याख्यान का संयोजन डाॅ. सरवत तक़ी और संचालन डाॅ.आग़ा परवेज़ मसीह ने किया।
    मुख्य वक्ता प्रो. डा अब्बास अली मेंहदी ने कहा कि हम जितना भौतिकता को अपनाते जा रहे हैं, उतना हम अपने जीवन के लिए ख़तरे पैदा कर रहे है। इसमें सबसे ख़तरनाक लेड (सीसा) है, जो जीवन को विषाक्तता की तरफ लेकर जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम सुन्दर बनने के लिए जितने चमकीले कास्मेटिक्स उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं, उतना ही लेड पर्यावरण में फैला रहे है। लिपस्टिक, पेंट, बैटरी आदि में भरपूर मात्रा में लेड पाया जाता है, जिससे यह हमारे शरीर में पानी, सब्ज़ी व अन्य खाद्य पदार्थों के साथ पहुंच  रहा है, जिससे प्रत्यक्ष रूप में लेड विषाक्तता बढ़ रही है। यदि इसकी रोकथाम के लिए कोई ठोस उपाय नहीं किया गया तो यह तेजी से मानव स्वास्थ्य के लिए बड़ी समस्या बनता जा रहा है।
    मौलाना यासूब अब्बास, सिक्रेटरी मजलिसे उलेमा ने कहा कि वह छात्र ख़ुशनसीब होते हैं, जिन्हें सच्चा शिक्षक मिल जाये। एक छात्र कच्चे घड़े के समान होता है, लेकिन उसे उपयोगी बनाने के लिए शिक्षक की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है।
    व्याख्यान का आगाज़ परंपरागत रूप से तिलावते कुरान से क़ारी नदीम नजफ़ी ने किया। इस अवसर पर प्रो. अब्बास अली मेहदी, प्रो. के.एम. सिंह, प्रो. सैयदान, डाॅ. फरजाना मेहदी, डाॅ. एस.एस.एच. तकवी को प्रो. एम.एम. हुसैन मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में डाॅ. नगीना बानो, डाॅ. मोहसिन रजा, डाॅ. के.सी. दुबे, डाॅ. ताज़ीम, डाॅ. फैज़ मुजतबा, डाॅ. तनवीर हसन, डाॅ. अरशद हसन रिजवी, डाॅ. ज़ाहिद हुसैन, डाॅ. प्रबोध गर्ग, और डाॅ. मज़हर मेहदी को शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा के लिए प्रो. एम.एम. मेमोरियल प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रगान के बाद प्राचार्य प्रो. तलअत हुसैन नकवी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर डाॅ. फिदा हुसैन अंसारी, पूर्व अध्यक्ष उच्चतर शिक्षा आयोग, डाॅ. एम.एम. अबु तैयब, निदेशक सेल्फ फाइनेंस, श्री गुफ़रान हसन, डाॅ. समीना शफीक़, डाॅ. शबीह रज़ा, डाॅ. ज़रीन ज़ैहरा, डाॅ. शुज़ात हुसैन, डाॅ. एस.एम. हसनैन, डाॅ. अर्चना सिंह, डाॅ. निशात फ़ात्मा, डाॅ. अम्बरीश, डाॅ. नैयर, डाॅ. वास्फिया हसन आदि उपस्थित रहे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here