सीबीएससी इन्टर बोर्ड की परीक्षा निरस्त।

0
137

सीबीएसई (CBSE) के बाद ICSE बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है। काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट (आईसीएसई) बोर्ड का कहना है कि आईसीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षाओं की परीक्षाएं कैंसल कर दिए गए हं। परीक्षाएं रद्द करने के बाद अंक देने के लिए मूल्यांकन प्रक्रिया के मानदंडों का जल्द फैसला होगा। हालांकि आईएससी छात्रों को परीक्षा में बैठने के लिए बाद में एक मौका दिया जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस फैसले पर खुशी जताई है।
इससे पहले पीएम मोदी की अध्यक्षता में सोमवार को हाईलेवल मीटिंग के बाद सीबीएसई की 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला लिया गया। पीएम मोदी ने कहा कि छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा न कराने का निर्णय किया गया है। पीएम मोदी ने कहा कि छात्रों का स्वास्थ्य और सुरक्षा सर्वोपरि महत्वपूर्ण है और इससे कतई समझौता नहीं किया जा सकता।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्हें खुशी है कि 12वीं कक्षा की सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। हम सभी बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर बेहद चिंतित थे। वहीं डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, मुझे बहुत ख़ुशी है कि देश के 1.5 करोड़ बच्चों की 12वीं की अंतहीन होती क्लास आख़िरकार अब ख़त्म होगी। परीक्षा कराने की ज़िद बच्चों की सुरक्षा पर बहुत भारी पड़ रही थी। कई अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी परीक्षाएं रद्द करने की गुहार लगाई थी।
गौरतलब है कि 14 अप्रैल को सरकार ने सीबीएसई की 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने का ऐलान किया था। साथ ही 12वीं क्लास के एग्जाम टालने पर मुहर लगाई थी। तभी से अनिश्चितता के बादल छाए हुए थे, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के बाद और बच्चों के लिए अभी तक कोरोना का टीका न तैयार हो पाने को देखते हुए चौतरफा मांग उठ रह थी कि 12वीं सीबीएसई की परीक्षाएं भी रद्द की जाएं। सुप्रीम कोर्ट में भी परीक्षाओं को रद्द करने के लिए याचिका दायर की थी और इस पर 3 जून को आगे सुनवाई होनी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here