सरकारी तंत्र पर बढ़ रहे तनाव के बीच लखनऊ जिलाधिकारी और सिटी मजिस्ट्रेट में खुलेआम झगड़ा।

0
72

लखनऊ -उत्तर प्रदेश में कोरोना काल में सरकारी तंत्र पर बढ़ रहे तनाव के बीच अब अधिकारियों में आपसी व्यवहार में भी खुला तनाव नज़र आ रहा है,।

ऐसी ही एक घटना में लखनऊ में जिलाधिकारी और सिटी मजिस्ट्रेट में एक वैक्सीनेशन सेंटर पर खुलेआम गाली गलौज की नौबत आ गई।
बताया जाता है कि लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश इमामबाड़ा में लगाए गए वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण करने गए थे, वहां सिटी मजिस्ट्रेट शशि भूषण राय उपस्थित थे।

वहां की व्यवस्था में कुछ ऐसा लगा कि जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश अपना आपा खो गए और उन्हें गुस्सा आ गया और जिलाधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट के साथ गाली गलौज करनी शुरू कर दी।
सिटी मजिस्ट्रेट शशि भूषण राय भी जिलाधिकारी से उलटे गाली गलौच पर उतर आए। वहां दोनों अधिकारियों में हालात इतने बिगड़े कि हाथापाई तक की नौबत आ गई, कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर मामले को रफा-दफा कराने की कोशिश की। बाद में सिटी मजिस्ट्रेट ने शासन को जिलाधिकारी के खिलाफ एक लिखित शिकायत भी भेजने की बात कही है और वे लम्बी छुट्टी पर चले गए है।
ज़िले के दो प्रमुख अफसरों में इस तरह की घटना अफसरशाही और मीडिया में चर्चा का विषय बन गयी है। इस बारे में सभी अफसर मीडिया से खुलकर बात करने से बच रहे है।
एक पीसीएस अधिकारी ने बताया कि ज़िले में आईएएस अफसर जिलाधिकारी बनकर अपने अधीनस्थ पीसीएस अफसरों को हीन भावना से देखते है और उनके साथ सार्वजनिक रूप से दुर्व्यवहार कर देते है जो प्रदेश में अफसरशाही के लिए अच्छी बात नहीं है, आईएएस अफसर को समझना चाहिये कि पीसीएस अफसर भी क्लास वन के ही अधिकारी है और ज़िले में टीम बनाकर ही सही काम किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here