वी0डी0ओ0 भर्ती निरस्त करने वाली सरकार के सभी दावे झूठे-अशोक सिंह

0
122

लखनऊ 13 जून 2021
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बेरोजगारों को दिसम्बर तक एक लाख सरकारी नौकरी देने के वादे पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के संकट काल मे युवाओं की नौकरी छीनने व चयनित अभ्यर्थियों द्वारा नियुक्ति की मांग करने पर उन्हें पुलिसिया उत्पीड़न का शिकार बनाकर जेल भेजने वाली योगी सरकार विधान सभा चुनाव को देखते हुए उनके वोट को लूटने का षड्यंत्र कर युवाओं को सरकारी नौकरी देने की बात कर राज्य की भाजपा सरकार गुमराह करने का मात्र का प्रयास कर रही है, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता व ए0आई0सी0सी0 सदस्य अशोक सिंह ने जारी बयान में कहा कि भाजपा सरकार जब जब आती है वो बेरोजगारों व युवाओं के साथ छल फरेब करती है, सेवारत कर्मचारियों की पेंशन हड़प करने वाली सरकार बेरोजगारों के साथ पिछले सवा चार वर्षों से क्रूर मजाक कर रही है।
प्रदेश प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि 49 हजार सिपाही भर्ती के चयनित अभ्यर्थियों में 35000 चयनित अभ्यर्थीयो को अभी तक नियुक्ति न दे पाने वाली सरकार झूठ की बुलंद इमारत खड़ीकर सबको गुमराह कर रही है एक वर्ष से अधिक समय से चयनित युवा धरना, प्रदर्शन कर रहे है अनेक भर्तियों के अभ्यर्थी अदालतों के चक्कर लगाकर सरकार की रोजगार विरोधी नीति के चलते बेरोजगारी का दंश झेलते हुए दरबदर की ठोकरे खाने को विवश हैं।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार में किस तरह ग्राम पंचायत विभाग में वी0डी0ओ0 भर्ती का परिणाम आने के बाद नियुक्तिया लटकाए रखते रखते उन्हें निरस्त करने का अपराध किया वह किसी से छिपा नही है, उन्होंने कहा कि 69 हजार शिक्षक भर्ती में किस तरह ओबीसी व अनुसूचित जातियों के कोटे की लगभग 6000 से अधिक सीटो पर घोटाला कर उनके संविधान प्रदत्त अधिकारांे को हड़पने का काम किया उसके लिये पिछड़ा वर्ग आयोग से फटकार भी मिल रही है, यही नही जिस तरह बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई को सामान्य वर्ग के ई.डब्ल्यू.एस. कोटे में नियुक्ति का भंडाफोड़ हुआ और बांदा कृषि विश्वविद्यालय में 15 पदों में से 11 पदों पर एक जाति विशेष के लोगो की नियुक्तियां करने का काम भाजपा सरकार ने किया उससे उसकी घृणित मंशा सामने आ चुकी है, उन्होंने कहा कि युवाओं, बेरोजगारो को नौकरी मांगने पर लाठियां चलवाकर लहूलुहान कर जेल भेजने वाली सरकार जख्मो पर नमक छिड़क रही है उसकी किस बात पर प्रदेशवासी भरोसा कर सकते हैं जिसने झूठ की बुलन्द इमारत खड़ी कर केवल झूठ का विकास किया हो उन्होंने कहा कि 4 लाख नौकरिया देने की बात करने वाली सरकार झूठ पर आमादा है। कार्यरत कर्मचारियों की पदोन्नति को रोजगार मानने वाली सरकार के सभी दावे झूठ पर आधारित व फर्जी है, इसकी पुष्टि सरकार के श्रम सेवायोजन मंत्री विगत विधानसभा सत्र में एक सवाल के जवाब में दे चुके हैं जिसमे उन्होंने स्वीकार किया है कि उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी का स्तर खतरनाक होता जा रहा है कोरोना संकट काल मे यह और गम्भीर हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here