लखनऊ विश्वविद्यालय के वी सी के आवास पर प्रदर्शन

    0
    512

    लखनऊ 12/12/ 2019 विश्वविद्यालय के वी सी के आवास पर आज प्रदर्शन हुआ। लॉ फैकल्टी के प्रोफेसर भी विरोध में शामिल,एक तरफ छात्र दूसरी तरफ प्रोफेसरों ने धरना दिया। एलयू वीसी आवास पर जमकर हंगामा किया गया।
    छात्र एवं शिक्षक पूरा पेपर कैंसिल करने का विरोध कर रहें हैं
    लॉ फैकल्टी के सभी प्रोफेसर विरोध में शामिल हैं।
    लविवि पर्चा लीक परीक्षाएं रद्द होने के विरोध में छात्र धरने पर बैठे हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय में चल रहीं लाॅ सेमेस्टर परीक्षाओं का पर्चा लीक होने और परीक्षाएं कैंसिल होने से विवि के छात्रों में काफी रोष है। छात्रों ने लविवि के न्यू कैम्पस के गेट में ताला लगाकर हंगामा शुरू कर दिया। सूत्रों के मुताबिक छात्रों ने विवि के शिक्षक कर्मचारियों को बंधक बना लिया । जिसके चलते कई शिक्षक अपनी फैकल्टी में ही बंद हो गए हैं। सैकड़ों छात्रों ने जानकीपुरम स्थित न्यू कैम्पस में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया। छात्रों की मांग थी कि वीसी को बुलाया जाए और उनकी बात कराई जाए।
    छात्रों ने कहा कि जो परीक्षाएं हो चुकी हैं, वह रद्द न की जाएं। अन्यथा छात्रों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। छात्रों पर दोबारा परीक्षाएं देने का मानसिक दबाव पड़ेगा। साथ ही समय की भी बर्बादी होगी। छात्रों ने कहा कि जब तक कुलपति हमें लिखित आश्वासन नहीं देंगे, हम सब यहीं पर बैठे रहेंगे। फिलहाल छात्रों के प्रदर्शन और हंगामे की खबर पर कई थानों की पुलिस फोर्स और पीएसी को मौके पर भेजा गया है। एसपी ट्रांस गोमती राजेश कुमार श्रीवास्तव भी छात्रों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।
    धरना प्रदर्शन में यूनिटी काॅलेज के भी छात्रों ने हिस्सा लिया। यूनिटी काॅलेज की छात्रा फरजीन ने कहा, सिटी लाॅ काॅलेज की भी सभी परीक्षाएं रद्द कर दी गयी हैं। हमारी मांग है कि जो परीक्षाएं हो चुकी हैं, उन्हें न रद्द किया जाए। जो परीक्षाएं होनी हैं, उनमें कुछ फेरबदल कर दिया जाए।

    बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुए ऑडियो में विवि के कुछ प्रोफेसर एक परीक्षार्थी को पेपर की जानकारी देते हुए सुने गए हैं। पर्चा लीक होने की पुख्ता सूचना पर कुलपति ने एलएलबी की सेसेस्टर परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा कर दी थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here