मनकामेश्वर घाट पर हुआ पीपल और बरगद के पौधों का रोपण

0
175

लखनऊ 5 जून। डालीगंज के प्रतिष्ठित मठ मंदिर मनकामेश्वर मठ की श्रीमहंत देव्यागिरि की अगुआई में ज्येष्ठ माह में संचालित जल सेवा के अंतर्गत शनिवार 5 जून को आईटी चौराहे के पास लखनऊ विश्वविद्यालय मार्ग पर जल सेवा की शुरुआत की गई। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए आरोग्य का आशीष देने वाली तुलसी पौधों का वितरण भी किया गया।

मनकामेश्वर मठ की महंत देव्यागिरि ने बताया कि कोरोना संकट के कारण पारंपरिक रूप से यह सेवा उनके जन्मदिन 5 मई से शुरू नहीं हो सकी। सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग के पुख्ता इंतजाम के बाद ही जल सेवा 5 जून से लखनऊ विश्वविद्यालय मार्ग पर अपने पारंपरिक स्थल पर शुरू कर दी गई। इसमें महंत देव्यागिरि ने खुद जल सेवा का संचालन किया। यह सेवा अगस्त महीने तक जारी रहेगी। इस जल सेवा के माध्यम से नो फॉर प्लास्टिक का संदेश देते हुए प्लास्टिक के डिस्पोजेबल ग्लास का प्रयोग नहीं किया जा रहा है। दूर से राहगीरों को पानी पिलाया जा रहा है। सैनिटाइजेशन का पूरा इंतजाम किया गया। महंत देव्यागिरि ने शहरवासियों का आवाह्न किया कि वह पशु-पक्षियों के लिए भी अपने घर और मोहल्ले के पार्कों में दाना-पानी रखें। जहां तक संभव हो गर्मी भर जरूरतमंदों के लिए जलपान की व्यवस्था करें। कोरोना पीड़ितों तक मदद जरूर पहुंचाए। दूसरी ओर मनकामेश्वर घाट उपवन में बरगद और पीपल के पौधों का रोपण किया गया। कोरोना मुक्ति और जगत कल्याण के लिए आदि गंगा मां का पूजन गाय के दुग्धाभिषेक से किया गया। इसके साथ ही मां गोमती में पल रही मछलियों आदि जीवों के लिए आटे की गोलियां अर्पित की गई।
इस मौके पर श्रीकृष्ण अग्रवाल, सागर अग्रवाल, अवध नारायण, अमन शुक्ला, उपमा पांडेय, रेखा, सोहन, अनीता आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here