एके शर्मा के मंत्री बनने की अटकलों पर विराम। योगी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगा बीजेपी का यह बड़ा चेहरा,

0
80

भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व ने पूर्व आईएएस एके शर्मा को एमएलसी बनाने के ठीक लगभग पांच महीने बाद संगठन में उपाध्यक्ष बनाकर साफ संकेत दे दिया है। पार्टी के ‘एक व्यक्ति एक पद’ के सिद्धांतों पर गौर करें तो एके शर्मा को अब मंत्रिमंडल में लिए जाने की अटकलों पर भी विराम लग गया है। साथ ही पदाधिकारियों के चयन में पार्टी ने जातीय व क्षेत्रीय संतुलन भी बिठाने की पूरी कोशिश की है। वहीं भारतीज जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पद पर पूर्व मंत्री ब्रह्मदत्त द्विवेदी के भतीजे और पुराने व मेहनती पदाधिकारी प्रांशु दत्त का चयन कर कार्यकर्ताओं का संदेश दिया है कि पार्टी में मेहनत करने वालों के लिए कोई भी पद पहुंच से बाहर नहीं है।
प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को 10 पदाधिकारियों को संगठन में नियुक्त किया। इसमें सबसे चौंकाने वाली नियुक्ति एके शर्मा की रही। उन्होंने 5 फरवरी को एमएलसी पद की शपथ ली थी, तब से उन्हें डिप्टी सीएम से लेकर न जाने क्या-क्या बनाए जाने की अटकलें थीं। नेतृत्व ने उन्हें प्रदेश संगठन में 15 अन्य उपाध्यक्षों के साथ तैनाती देकर साफ कर दिया है कि फिलहाल उनका मंत्री बनना मुमकिन नहीं है। शायद यही वजह रही कि एके शर्मा ने नियुक्त के तुरंत बाद ट्वीट कर सहर्ष संगठन की सेवा करने का संदेश दे दिया। हालांकि पार्टी नेता इसे फिलहाल मंत्रिमंडल विस्तार पर पूर्ण विराम नहीं मान रहे। उनका कहना है कि एके शर्मा का संगठन में जाना केवल उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने की अटकलों पर विराम है। मंत्रिमंडल विस्तार में पार्टी के अन्य पदाधिकारियों को समाहित किए जाने की उम्मीद अभी भी बरकरार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here