अन्नदाता की पीड़ा को समझना नहीं चाहती भाजपा अजय कुमार लल्लू

    0
    33

                                                                                                        
    
                                               


    लखनऊ 25 अगस्त 2021
    उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, विधायक श्री अजय कुमार लल्लू ने केन्द्र सरकार द्वारा गन्ना मूल्य में 05 रूपये प्रति कुंतल की मूल्य बढोत्तरी कर 290 रूपये किये जाने को किसानों के साथ धोखा करार देते हुए कहा कि यह बहुत कम और किसानों के साथ भाजपा सरकार द्वारा किया गया धोखा है। मंहगाई के इस दौर में डीजल, बिजली दर और खाद की महंगाई से कृषि लागत की सभी वस्तुओं के दाम आसमान छू चुके है तो यह बढोत्तरी जले पर नमक के बराबर है। क्योकि यह सरकार अन्नदाताओ की पीड़ा और बेबसी को समझना ही नहीं चाहती है।
    उत्तर प्रदेश की मौजूदा सरकार 2017 के विधान सभा चुनाव में 400 रूपये कुन्तल गन्ना खरीदने का वादा करके सत्ता में आई थी। लेकिन साढे चार वर्ष बीत जाने के बाद 10-15-20 रूपये तीन श्रेणी में (प्रथम, द्वितीय और तृतीय) बढाया। जो कि 310 रूपया, 315 रूपया और 325 रूपया मात्र ही गन्ना किसानो को मिलता है। इसके विपरित कांग्रेस शासित राज्य पंजाब सरकार ने 360 रूपये में किसानों से गन्ना खरीदने का फैसला किया है।
    प्रदेश के किसानो के लिए गन्ना का मूल्य इतना कम होना, किसानों के उपर बहुत बड़ा भार और घाटे का कारण है। क्योंकि पिछले साढे चार वर्ष में कृषि लागत मूल्य दोगुने से ज्यादा बढ़ा हैं उदाहरण स्वरूप खेत की तैयारी से लेकर, फसल तैयार होने से लेकर ढुलाई, बुवाई हो, निराई हो, सिंचाई हो, सारे काम कृषि उपकरण से होते है और यह उपकरण डीजल या बिजली से चलता है दोनों के दाम आसमान छू रहे है। इसी प्रकार उर्वरक या किट नाशक उनके दाम भी लगभग दोगुने बढ़े है। ऐसे में गन्ना मूल्य का दाम पिछले साढे चार वर्षो में इतना कम बढ़ाया जाना गन्ना किसानों का अपमान करना और उन पर अनावश्यक दबाव डालना, जबकि इसी दौरान अपने फसल को किसानों ने और गुणवत्ता परक बनाया है। जिससे चीनी रिकवरी रेट बढ़ा है और गन्ने का उत्पादन रकबा के अनुसार पहले की अपेक्षा ज्यादा हुआ है।
    उत्तर प्रदेश के किसानों को बढ़ी लागत मूल्य के चलते उनकी गन्ना खरीद न्यून्तम साढे चार सौ रूपये प्रति कुन्तल किया जाए तथा गन्ना किसानों का लगभग 10 हजार करोड़ रूपये का गन्ना बकाया मूल्य अविलम्ब सुनिश्चित कराया जाए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here