683 दिन बाद ईरान की कैद से रिहा हुआ अमेरिकी नागरिक; ट्रम्प ने कहा- शुक्रिया, अब डील भी हो सकती है

    0
    53

    06/06/2020

    वॉशिंगटन. अमेरिका के पूर्व नौसैनिक माइकल व्हाइट को ईरान ने गुरुवार को रिहा कर दिया। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट की रिहाई पर खुशी जताई। कहा- ईरान का शुक्रिया। हमारे बीच अब डील भी मुमकिन है। हालांकि, उन्होंने यह साफ नहीं किया कि वो किस डील की बात कर रहे हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि ईरान में अब भी तीन अमेरिकी कैद हैं। ट्रम्प उनकी रिहाई से संबंधित डील की बात कर रहे हैं या दोनों देशों की न्युक्लियर डील की।
    व्हाइट को 2018 में ईरान के शहर मशहाद से गिरफ्तार किया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, माइकल वहां अपनी महिला मित्र से मिलने गए थे। व्हाइट परिवार के प्रवक्ता के मुताबिक, माइकल ईरान में 683 दिन कैद रहे।

    व्हाइट घर आ रहे हैं…
    गुरुवार को जैसे ही व्हाइट के रिहा होने की पुष्टि हुई, ट्रम्प ने एक बयान जारी किया। उनका ट्वीट भी आया। कहा, “मैंने कुछ देर पहले माइकल व्हाइट से फोन पर बातचीत की है। वो ईरान की जेल से रिहा होने के बाद फिलहाल ज्यूरिख में हैं। जल्द ही वो अपने घर अमेरिका पहुंच जाएंगे।”

    ईरान से डील?
    अमेरिकी राष्ट्रपति ने अमेरिकी नागरिकों की रिहाई में अपनी सरकार की पीठ भी थपथपाई। कहा, “मेरे राष्ट्रपति बनने के बाद अब तक हम 40 अमेरिकी नागरिकों को रिहा कराकर देश वापस लाए हैं। ईरान का शुक्रिया। यह साबित करता है कि हमारे बीच डील भी हो सकती है।”

    दोनों देशों के बीच सहमति
    अमेरिका और ईरान के बीच कैदियों की रिहाई पर सहमति बनी है। दोनों देशों ने एक-दूसरे के नागरिकों को रिहा किया है। ईरान के विदेश मंत्री जावेद जरीफ ने कहा, “मुझे खुशी है कि डॉक्टर माजिद ताहेरी और माइकल व्हाइट जल्द ही परिवार से मिल सकेंगे। प्रोफेसर सिरोस असगरी भी बुधवार को रिहा किए जा चुके हैं। यह सभी कैदियों के मामले में हो सकता है। अमेरिका में बंदी सभी ईरानी नागरिकों को रिहा किया जाना चाहिए।”

    विवाद की जड़
    ईरान और अमेरिका के बीच 2015 में न्युक्लियर डील हुई। इसमें कुछ शर्तों के साथ ईरान अपना परमाणु कार्यक्रम स्थगित करने पर तैयार हो गया। 2018 में ट्रम्प प्रशासन ने यह डील रद्द कर दी। कहा- ईरान समझौते के बावजूद परमाणु कार्यक्रम जारी रखे हुए है। ईरान पर नए प्रतिबंध लगाए गए। तब से दोनों देशों के रिश्ते ज्यादा खराब हो गए। अब भी तीन अमेरिकी ईरान की कैद में हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here