हाथरस गांव वालों की एक ही मांग की कि कोई दोषी बचे नहीं और निर्दोष को सजा न हो।

0
38

हाथरस गैंगरेप केस में सियासी संग्राम जारी है। इस बीच आजतक पीड़िता के गांव पहुंचा, जहां सबने एक ही मांग की कि कोई दोषी बचे नहीं और निर्दोष को सजा न हो। गांववालों ने सीबीआई जांच की भी मांग की और कहा कि दोनों पक्ष का नार्को टेस्ट जरूर होना चाहिए। कई ग्रामीणों ने यहां तक कहा कि गिरफ्तार लड़के दोषी नहीं हैं, फंसाया गया है।

एक ग्रामीण ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि हम चाहते हैं कि मामले की जांच सीबीआई से हो और नार्को टेस्ट भी किया जाए। इसके साथ ही हमें एसआईटी की जांच का भी इंतजार है. हमें पता है कि हमारे लड़के दोषी नहीं हैं, लेकिन हम अभी भी चाहते हैं कि कोई भी दोषी हो, उसे सजा मिलनी चाहिए।

पीड़िता के परिवार पर आरोप लगाते हुए एक शख्स ने कहा कि जब आरोपी पक्ष नार्को टेस्ट के लिए तैयार है तो पीड़ित पक्ष क्यों नहीं नार्को टेस्ट कराना चाहता है. इससे साबित होता है कि इनकी शिकायत झूठी है। वहीं, एक ग्रामीण ने आरोप लगाया कि मेरे भतीजे ने गांधीवादी अनशन रखा था, जिसके विरोध में भीम आर्मी की ओर से जान से मारने की धमकी मिल रही है।

ग्रामीणों ने पुलिस जांच पर अपनी संतुष्टि जताई और कहा कि कुछ लोग राजनीतिक साजिश रच रहे हैं। ग्रामीणों ने भीम आर्मी का नाम लेते हुए कहा कि यह ऑनर किलिंग काम मामला है, लेकिन हत्या का एंगल दिया जा रहा है। पूरे मामले की किसी भी स्तर पर जांच की जाए और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here