हमारे प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के साथ हो रहा है अन्याय-पंकज मलिक

    0
    270

    लखनऊ 29 मई।

    उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने जारी प्रेसनोट में कहा कि लॉकडाउन में किसान-मजदूर, छोटे व्यापारियो की माली हालत खराब हो गयी है। सरकार की तरफ से कोई ठोस मदद नहीं हुई है, वहीं प्रदेश में वापस आ रहे मजदूरों से सरकार ने मुँह मोड़ लिया है। काँग्रेस ने जब भी मजदूरो की मदद करना चाही, सरकार ने मजदूर विरोधी रुख अख्तियार करते हुये कांग्रेसियांे के खिलाफ मुकदमे दर्ज करवा रही है।
    प्रदेश उपाध्यक्ष श्री पंकज मलिक ने कहा कि मजदूर राष्ट्र-निर्माता है। आपदा के समय हर भारतीय का कर्तव्य है कि मजदूर भाई-बहनों की मदद हो। गरीब विरोधी योगी सरकार हमारी सेवाभाव से बौखला गयी है और हमारे नेताओं पर फर्जी मुकदमें दर्ज कर रही है। हम इन मुकदमों से डरने वाले नहीं हैं।
    उन्होंने आगे कहा कि प्रवासी मजदूर बहन-भाइयों के लिए हम बसें चलाना चाहते थे लेकिन योगी सरकार ने अपने मजदूर विरोधी रवैये के चलते उसे रोक दिया। हमारे अध्यक्ष को मजदूरों की सेवा के ‘अपराध’ में जेल भेज दिया गया। खुद उनके ऊपर भी मुकदमा दर्ज हुआ है।
    श्री पंकज मलिक ने कहा कि अब तक कांग्रेस 90 से ज्यादा पदाधिकारियों- कार्यकर्ताओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चुका है। इलाहाबाद में पूर्व विधायक श्री अनुग्रह नारायण सिंह समेत 13 अन्य, पट्टी से पूर्व विधायक राम सिंह पटेल, प्रदेश महासचिव वीरेंद्र गुड्डू, बाँदा जिलाध्यक्ष राजेश द्विवेदी सहित 18 अन्य, सीतापुर जिलाध्यक्ष उत्कर्ष अवस्थी, पूर्व मंत्री रामलाल राही, मंजरी राही समेत 12 अन्य, जालौन जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा, गौतमबुद्धनगर महानगर अध्यक्ष शहाबुद्दीन, मिर्जापुर जिलाध्यक्ष शिवकुमार पटेल, कैलाश नाथ उपाध्याय, गुलाबचंद पाण्डेय, पंकज पटेल, मोनू पटेल, संतोष, आशीष पटेल, लवकुश भारती, शिवम पटेल समेत 25 अन्य अज्ञात कांग्रेस जनों पर फर्जी मुकदमा दर्ज हुआ हैं। योगी सरकार ने मजदूरो की सेवा करने की जगह मजदूरो की मदद करने वालो को निशाना बना रही है। इन फर्जी मुकदमों से हमारा सेवा कार्य नहीं रुकेगा।
    प्रदेश उपाध्यक्ष श्री वीरेंद्र चैधरी ने बताया कि इस महामारी में हम 90 लाख लोगों तक मदद पहुंचाएं हैं। 40 जगहों पर हाईवे पर खाना, नाश्ता, गुड़ बांटा जा रहा है। 22 जिलों में साझी रसोईयां चल रही हैं। इस आपदा में हम अपनी पूरी क्षमता से जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे है।
    उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस ने मजदूरो की मदद के लिये बसे भी बॉर्डर में लगवाई थी। सरकार को भेजी वाहनों की लिस्ट में 1032 बसें थी। हमने एक-एक नम्बर दोबारा चेक किया है। लेकिन आदित्यनाथ की सरकार ने प्रदेश के मजदूरों, श्रमिक भाईयों के साथ छल किया है। प्रदेश की जनता इन्हें माफ नहीं करेगी।
    प्रदेश उपाध्यक्ष श्री वीरेंद्र चैधरी ने बताया कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष को 14 दिनों की पुलिस रिमांड पर जेल भेजा जाना सरकार की तानाशाही और गरीब और मजदूर विरोधी मानसिकता उजागर करती है। पूरी पार्टी अपने प्रदेश अध्यक्ष के समर्थन और एकजुटता में खड़ी है। लगातार क्रमिक अनशन और शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन हो रहे है। कल  राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी जी की अगुवाई में प्रदेश के 55 हजार से ज्यादा कांग्रेसियो ने फेसबुक लाइव के माध्यम से योगी सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ अपनी बात रखी और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई की मांग की।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here