सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी मोहम्मद अनीस अंसारी गिरफ्तार। व्यक्तिगत बांड पर रिहा।

    0
    599

    लखनऊ  13 जून 2020

    सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी मोहम्मद अनीस अंसारी, 46 अन्य कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ, आपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 151 के तहत पुलिस थाना हजरत गंज लखनऊ के अधिकारियों द्वारा आज 13 जून 2020 को जीपीओ हजरत गंज के गेट के पास कथित तौर पर धरने में भाग लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।
    यह शांतिपूर्वक मौन धरना श्री अजय कुमार लल्लू अध्यक्ष UPCC की रिहाई के लिए था। गिरफ्तार करने के बाद उन्हें इको गार्डन ले जाया गया (सुश्री मायावती पूर्व सीएम यूपी द्वारा एक पार्क के रूप में पुरानी जेल का पुनर्निर्माण किया गया) और फिर वहां व्यक्तिगत बॉन्ड पर रिहा किया गया।
    मोहम्मद अनीस अंसारी सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हैं । वह उत्तर प्रदेश उर्दू, अरबी, फारसी विश्वविद्यालय का अंतरिम कुलपति भी रह चुके हैैं। श्री अंसारी कृषि उत्पादन आयुक्त के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। श्री अंसारी शायर भी हैं। उनके उर्दू और देवनागरी लिपि के आठ संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं।

    इन मशहूर संग्रहों में शहरे शराब, सूरज का सफर, जंग और मोहब्बत के दरम्यिन, अगले मौसम की खुशबू, जिंदगी वस्ल है, तीसरे दिन का सूरज, दर्द अभी महफूज नही और तेरे वास्ते रोता हूँ जमीन शामिल हैं।
    श्री अंसारी विभिन्न पत्रों में लेख भी लिखते रहे हैं। उन्हें उर्दू अदब में योगदान के लिए फिराक गोरखपुरी अवार्ड, उर्दू अकादमी अवार्ड सहित 17 महत्वपूर्ण सम्मान मिले हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here