सीएम योगी ने सिडबी को सौंपी 15 करोड़ की किश्त, बोले-नई स्टार्टअप नीति बनाकर युवाओं को दें रोजगार

    0
    260

    लखनऊ 21 मई 2020 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा व अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों के लिए एक नई स्टार्टअप नीति प्रदेश में बने, जिससे प्रदेश का युवा जुड़ सके और जॉब की संभावनाओं को बल मिल सके। मुख्यमंत्री ने बुधवार को उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड का शुभारंभ किया और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) को 15 करोड़ रुपये की पहली किस्त सौंपी। प्रदेश सरकार और सिडबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर हुआ है।

    मुख्यमंत्री ने बुधवार को पांच कालीदास मार्ग पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि इस समय बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार और श्रमिक यूपी में आए हैं। हमें उनकी स्किल के अनुसार उन्हें रोजगार उपलब्ध कराना है। इससे न सिर्फ उनकी समस्याओं का समाधान होगा, बल्कि उनकी ऊर्जा और प्रतिभा का लाभ यूपी के माध्यम से पूरे देश को भी मिलेगा। हमारी नीयत नेक है, लेकिन नीयत के साथ-साथ निर्णय लेने की क्षमता को भी गति देनी होगी, तभी हम लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर पाएंगे।

    उन्होंने कहा कि किसी भी अच्छे काम को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए समय पर फैसला लेना जरूरी होता है, वरना एक बड़ा वर्ग योजनाओं के लाभ से वंचित रह जाता है। समय पर यदि सही निर्णय लेकर काम शुरू कर दिए जाएं तो बहुत सारे लोगों के जीवन को एक नई दिशा दी जा सकती है। हमारी नई स्टार्टअप नीति आ रही है और इससे युवाओं को अपना स्टार्टअप लगाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। एमएसएमई के लिए केंद्र सरकार ने जिस नए पैकेज की घोषणा की है, उसके आधार पर कार्रवाई को आगे बढ़ा दिया गया है। एक बड़ा ऑनलाइन मेला आयोजित कर उद्यमियों को लोन दिया जा चुका है।

    उपमुख्यमंत्री डा. शर्मा ने कहा कि सिडबी के साथ जो समझौता हुआ है, उससे निश्चित रूप से स्टार्टअप की स्थापना में गति आएगी और स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा। उत्तर प्रदेश में तमाम संभावनाएं हैं, यहां के युवाओं के पास नए-नए आइडियास, विचार और कॉन्सेप्ट हैं, लेकिन उनका उपयोग अबतक नहीं किया गया था। वर्तमान सरकार ने इस विषय पर ध्यान दिया है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here