विवेकानंद हॉस्पिटल में मरीज़ की मौत के बाद तीमारदारों ने किया जमकर हंगामा

    0
    359

     

    लखनऊ 19 फरवरी 2020: राजधानी के महानगर थाना क्षेत्र स्थित विवेकानद हॉस्पिटल में एक नया मामला सामने आया है, जंहा हॉस्पिटल के डॉक्टर की लापरवाही से एक युवक की मौत हो गई। मृतक 14 जनवरी को विवेकानंद हॉस्पिटल में शरीर मे चल रहे इंफेक्शन के चलते भर्ती हुआ था। मरीज के परिजनों का आरोप है कि मौत के घंटो बाद भी उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई। डॉक्टर सिर्फ मरीज के नाम पर उनसे पैसे ऐंठ रहे थे। परिजनों का आरोप है की शव देने से पहले डॉक्टर्स ने मृतक का पूरा बिल जमा करा लिया।
    मृतक राजन कपूर (45) पुत्र स्व. भूषण लाल कपूर बाबूगंज थाना हसनगंज का निवासी है। 14 जनवरी को गाड़ी का हैंडल पैर में लगने के कारण युवक डॉक्टर को दिखाने गया था। विवेकानंद के डॉक्टरों ने इंफेक्शन की बात कहकर युवक को ऑपरेशन कराने की सलाह दी थी। मृतक के परिजनों ने बताया कि डॉक्टरों ने तीन बार में मरीज का ऑपरेशन किया था। जिसकी तारीख 17, 21 और 29 जनवरी थी। विवेकानंद के डॉक्टर्स ने ऑपरेशन के कुछ दिन बाद ही मरीज के परिजनों को बिना सूचित किये ही मरीज को डिस्चार्ज कर दिया था। परिजनों ने बताया घर पर ड्रेसिंग करने के नाम पर भी अस्पताल की तरफ से प्रतिदिन 1500 रुपये लिए जाते थे । मरीज का ऑपरेशन डॉक्टर अमित अग्रवाल, गोपाल, अभिनव खरे, सारिका और डॉक्टर मोहम्मद आमिर ने किया था। पैर का इंफेक्शन फेफड़े तक पहुंचने से मरीज की मौत हो गई थी। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर इलाज के नाम पर अब तक 8 लाख रुपये की धन उगाही कर चुके हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here