लाॅकडाउन में कांग्रेस ने अभी तक 90 लाख लोगों तक राशन, भोजन, दवाइयां आदि मुहैया करायी, 10 लाख प्रवासी श्रमिकों की मदद कीः वीरेन्द्र चैाधरी

    0
    88

    लखनऊ 31 मई।
    उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी ने जारी प्रेस नोट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कांग्रेस पर झूठे और भ्रामक आरेाप लगाये जाने पर कड़ा ऐतराज जताया है। प्रदेश उपाध्यक्ष श्री वीरेन्द्र चैाधरी ने कहा है कि लाॅकडाउन के पहले चरण से ही कोरोना महामारी से बचाव हेतु और श्रमिकों की सुरक्षित घर वापसी तथा किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों के हितों को लेकर कांग्रेस ने सरकार को लगातार पत्र लिखकर महत्वपूर्ण सुझाव दिये, साथ ही महामारी से निपटने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने हेतु कई बार निवेदन किया, लेकिन अहंकार से चूर मुख्यमंत्री जी ने एक बार भी इन बातों पर ध्यान नहीं दिया और सरकार पर सवाल खड़े होने पर प्रदेश की जनता से सरासर झूठ बोलकर गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।

    श्री वीरेन्द्र चैाधरी ने आगे कहा कि प्रदेश के कोविड-19 अस्पतालों की दुर्दशा छिपी नहीं है। एक तरफ जहां पीपीई किट्स को लेकर घोटाले की बात सामने आयी वहीं कई अस्पतालों में नकली पीपीई किट्स के चलते चिकित्सकों, नर्सों, टेक्नीशियन व सफाईकर्मियों की जान खतरे में डाल दी गयी। लखनऊ, गोरखपुर, रायबरेली, कानपुर, बहराइच, सीतापुर सहित अन्य जिलों में बनाये गये कोविड-19 अस्पतालों में कोरोना के मरीजों की देखभाल और इलाज में भारी लापरवाही भी उजागर हुई। प्रदेश सरकार द्वारा अनुबंधित प्राइवेट टेस्टिंग लैब और सरकारी लैब में कोरोना पाजिटिव के टेस्टिंग आंकड़ों में भारी अन्तर भी सामने आया। सरकार द्वारा आगरा माॅडल को पूरे देश में जोर-शोर से प्रचारित किया गया जबकि हकीकत में आगरा में इतनी दुवर््यवस्था हुई कि आगरा ‘वुहान’ बनने की कगार पर पहुंच गया था। वहीं दूसरी तरफ आगरा, बस्ती, रायबरेली आदि जिलों के कोरन्टीन केन्द्रों में रखे गये लोगों के साथ जानवरों से भी बदतर बर्ताव किया गया और बदइंतजामी का आलम यह रहा कि कोरोना सैम्पल को बन्दर लेकर भाग जा रहे हैं।

    लाॅकडाउन-1 के पहले दिन से ही कांग्रेस पार्टी पूरी शिद्दत के साथ जनसेवा में जुटी हुई है। 90 लाख लोगों तक राशन, भोजन पहुंचाने का काम किया है। 10 लाख प्रवासी मजदूरों की मदद की गयी। साढ़े सात लाख मास्क एवं सेनीटाइजर का वितरण किया गया। 22 सांझी रसोईघरों का संचालन किया जा रहा है और 40 स्थानों पर हाईवे टास्क फोर्स बनाकर कांग्रेस के 5 हजार प्रतिबद्ध सिपाहियों ने प्रवासी श्रमिकों और जरूरतमंदों की दिन-रात मदद की। वहीं योगी सरकार की मजदूर और गरीब विरोधी नीतियों के चलते सड़कों पर चल रहे श्रमिकों और जरूरतमंद लोग भूख और प्यास से तड़पकर जान गंवाने के लिए विवश हो रहे हैं।

    श्री चैाधरी ने कहा कि प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए कांग्रेस ने एक हजार से ज्यादा बसें उ0प्र0 की सीमा आगरा व गाजियाबाद में खड़ी की थी, सरकार ने पहले अनुमति भी दी लेकिन कांग्रेस की सेवाभाव से भयभीत होकर राजनीतिक ईष्र्यावश न तो उन बसों को चलने दिया उल्टे मजदूरों के लिए दिन-रात एक कर रहे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू को फर्जी मुकदमा दर्ज करवाकर जेल में बन्द कर दिया। मुख्यमंत्री का यह कहना कि राजस्थान सरकार ने उ0प्र0 सरकार से तेल व बसों का पैसा लिया पूरी तरफ भ्रामक और गुमराह करने वाला बयान है। प्रदेश के परिवहन आयुक्त ने राजस्थान सरकार से बसों के परिचालन हेतु एवं उनके खर्चें के लिए एक समझौता किया था और बकायदा पत्राचार किया था और इस करार की पुष्टि राजस्थान के उप मुख्यमंत्री श्री सचिन पायलट ने प्रेस कान्फ्रेंस करके पत्रों को मीडिया के समक्ष रखा था। मुख्यमंत्री द्वारा बार-बार झूठ बोलकर छात्रों को गुमराह करने का प्रयास किया जाना घोर निन्दनीय है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here