रामपुर: शिवसेना नेता के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़,वहीं मृतक कि मां बोली आज़म ख़ान होते तो बेटा जिंदा होता

    0
    266

    22 मई 2020

    रामपुर में गुरुवार को शिवसेना नेता अनुराग शर्मा की शवयात्रा में भारी भीड़ उमड़ी। बुधवार रात उनके घर के सामने उनकी हत्या कर दी गई थी। दो बाइक सवार युवकों ने अनुराग शर्मा को पीठ में गोली मारी थी। अनुराग शर्मा की हत्या के बाद उनके समर्थकों ने जिला अस्पताल में हंगामा किया और तोड़फोड़ भी की थी।

    रामपुर में शिवसेना के पूर्व जिला प्रमुख अनुराग शर्मा की देर शाम गोली मारकर उस समय हत्या कर दी गई जब वो घर के बाहर टहल रहे थे।
    पीछे से आए अज्ञात हमलावर ने पीठ में दो गोली मार दी और फरार हो गया।

    बेहद गंभीर स्थिति में अनुराग शर्मा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना से आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया।
    वहीं न्यूज वेबसाइट स्पेशल कवरेज डॉट इन के मुताबिक रामपुर में शिवसेना नेता अनुराग शर्मा की गोली मारकर हत्या के मामले में मृतक की मां ने डॉक्टरों पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि समय से इलाज न करने के चलते मेरे बेटे की मौत हो गई।
    शिवसेना के पूर्व जिला संयोजक अनुराग शर्मा की हत्या की सूचना पर रामपुर पहुंचकर आईजी मुरादाबाद रेंज रमित शर्मा ने घटना स्थल का जायजा लिया और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। साथ ही परिवार को हिम्मत देते हुए कहा कि आपके साथ पूरा न्याय किया जाएगा और जो भी दोषी होगा उसे जेल भेजा जाएगा।
    आईजी रमित शर्मा से आजम की तारीफ करते हुए मृतक की मां ने कहा कि अगर आज आजम खान होते तो डॉक्टर सही से इलाज करते’, और मेरे बेटे की मौत नहीं होती। शिवसेना नेता की माँ से यह शब्द सुनकर मौजूद लोग भी अचंभित रह गये।

    माँ ने कहा कि मेरे बेटे को इन्होंने देखा नहीं उसे मार दिया। डॉक्टरों के विरुद्ध कार्रवाई हो तभी मेरे बेटे की आत्मा को शान्ति मिलेगी। मृतक की मां की आईजी रमित शर्मा ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है। नाराज लोगों ने अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की थी. यह वारदात सिविल लाइन इलाके में हुई थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here