मोहर्रम 2020 में अजादारी के सिलसिले में ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड की एडवाइजरी जारी

    0
    371

    ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड की एक ऑनलाइन मीटिंग 5 अगस्त 2020 को रूम के जरिए हुई जिसमें हिंदुस्तान के मुख्तलिफ सूबों और शहरों से खोतबा और कौम के जिम्मेदारों की राय अजादारी ए इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम के सिलसिले में बोर्ड के सामने आई इसके अलावा आयतुल्लाह उल उज़्मा सैयद अली हुसैन सिस्तानी और आयतुल्लाह उल उज़मा हाफिज शेख बशीर हुसैन नजफी आयतुल्लाह उल उज़मा वहीद खुरासानी और दीगर मराजाए कराम ने नजफ अशरफ इराक और ईरान से अजादारी इमाम हुसैन के सिलसिले में जो हिदायत दी है उन तमाम बातों को पेशे नजर रखते हुए बोर्ड ने आय्यामें अजा में मजलिस और जुलूस ए अज़ा के सिलसिले में हिंदुस्तान के अजादारों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है अजादारी हमारी शहरगे हयात है और हमारी पहचान है शियों ने अपनी कुर्बानियां देकर जिसकी हिफाजत की है और इसकी शान और शौकत को कायम रखा है मजहब ने हमको हिफाजत नफ्स और इंसानियत की हिफाजत का हुक्म दिया है हजरत इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम ने इंसानियत की बका की खातिर अपनी कुर्बानी दी। देश के शिओ ने तमाम अजादारी मुखालिफ ताकतों से मुकाबला किया और अजादारी को बाकी रखा लेकिन कोरोना जैसी बीमारी से अभी तक कोई मुकाबला नहीं कर पा रहा है इस बीमारी से अपने को और दूसरों को भी महफूज रखना हम सबकी जिम्मेदारी है अय्यामें अजा में हमको अपने अजाखानों आशुरखाना को सुनसान नहीं रखना है सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल करते हुए हर अजाखाने में मजलिस का एहतमाम करना भी बहुत जरूरी है इसी के साथ मरसियाखानी की मजलिस का एहतमाम भी किया जाए अय्यामें अजा में हमको कई बातों को पेशे नजर रखकर उस पर अमल करना चाहिए।
    ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड से मोमिन से गुजारिश की है कि वह अपने अपने इलाके में इंतजामियां से राब्ता कायम करें और गाइडलाइंस पर अमल करते हुए अजादारी का एहतेमाम करें।
    इसके साथ ही साथ तोड़ने मोमिनीन से यह भी अपील की क्या ज्यादा री के दौरान मास्क सोशल डिस्टेंसिंग पर पूरा ध्यान दिया जाए खुले हुए तबर्रुक की जगह पैक तबर्रुक बाटे जाए।
    सबील में खुले पानी की जगह सील बंद बोतल पानी वितरित किए जाएं। मोमिनीन अपने-अपने राज्यों में हुकूमत व जिला इंतजामियां और मेडिकल हिदायत पर अमल करें। जुलोसों में इस बात का खास ध्यान रखें कि फासला बरकरार रहे एक जगह इकट्ठा ना हो बुजुर्ग बच्चे और जो मुख्तलिफ बीमारियों में मुब्तिला हैं वह इसमें शिरकत ना करके ऑनलाइन जियारत करें।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here