मज़बूत इच्छाशक्ति और थोड़ी सी सावधानी करोना कॉल में आवश्यक: डॉ.परविंदर कौर

    0
    373

    आज पूरा विश्व करोना वायरस के संक्रमण काल से गुज़र रहा है जहां इस वक्त दुनिया का प्रत्येक व्यक्ति अपने आप को असुरक्षित सा महसूस कर रहा है, वही इस संक्रमण काल ने हमें कुछ नई बातें सीखने और जीवन जीने के तरीके को एक नए अंदाज से सोचने का एक मौका भी प्रदान किया है। कहते हैं “संघर्ष ही जीवन है” यानी इंसान की जिंदगी नित्य ही संघर्षों से भरी पड़ी है, इसीलिए करोना को लेकर भी हमें अत्यधिक चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।बस आवश्यकता है तो परस्पर सहयोग की भावना की एवं एक मजबूत इच्छाशक्ति की। करोना से संबंधित कुछ सावधानियां आवश्यक है: जैसे कि: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जहाँ हमें बार-बार साबुन-पानी से हाथ धोने और सामाजिक दूरी बनाये रखने की सलाह दी जा रही हैं वहीँ खानपान पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही जा रही है। इसके लिए भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करने को कहा जा रहा है जो कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले हों।
    कोरोना से लड़ने में पौष्टिक व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाले खाद्य पदार्थों की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसमें रोजाना लगभग 75-80 ग्राम प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी और ई युक्त खाद्य पदार्थ, 3 से 4 लीटर पानी शामिल हैं। साथ ही प्रतिदिन आधा घंटा व्यायाम/ मेडिटेशन/ योगा करना भी शामिल है।आंवला ,नींबू और तुलसी का दैनिक उपयोग विशेष रूप से लाभकारी है। लोगों को चाहिए कि वह भूखे ना रहे एवं पौष्टिक, संतुलित व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले भोजन को अपनी डाईट में शामिल करें |

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here