भारत-चीन हिंसा: शहादत की सूचना के बाद बोला जवान- जिंदा हूं मैं, मातम का माहौल खुशियों में बदला

    0
    71

    भारत-चीन के बीच पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात हुई हिंसक झड़प में बिहार के जो पांच जवान शहीद हो गए थे, उनमें से एक बिहार के सारण जिले के सुनील राय के सलामत होने की सूचना सामने आई है। एक ही नाम होने की गलतफहमी के कारण ऐसा हुआ।
    सुनील के परिजनों से सेना के अधिकारियों ने बात करते हुए बताया, ‘गलतफहमी के कारण गलत सूचना आ गई थी, लेकिन लद्दाख में सुनील पूरी तरह ठीक हैं।’
    वहीं, जवान सुनील राय ने अपने परिजनों से फोन पर बात कर अपनी सलामती के बारे में बताया, जिसके बाद मातम का माहौल खुशियों में बदल गया। बता दें कि भारत-चीन सीमा विवाद के चलते हिंसक टकराव हुआ, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। चीन के भी कई जवानों के हताहत होने की जानकारी है।
    भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प में बिहार के जवान देश के खातिर हंसते-हंसते शहीद हो गए। जवानों ने झड़प में अपनी जान की बाजी लगा दी। राज्य के चंचौरा के संजय, भोजपुर के कुंदन ओझा, सहरसा के कुंदन कुमार ने वीरगति प्राप्त की।
    वहीं, शहीद जवान कुंदन ओझा मूल रूप से बिहिया थाना क्षेत्र के पहरपुर गांव के रहने वाले रविशंकर ओझा के पुत्र थे। उनका परिवार करीब तीस साल से झारखंड राज्य के साहेबगज में रह रहा है। मंगलवार की शाम बेटे की शहादत की खबर मिलते ही गांव का माहौल गमगीन हो उठा। कुंदन के पैतृक घर में भी कोहराम मच गया। कुंदन अपने पहले बच्चे को देखने से पहले ही शहीद हो गए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here