बसपा प्रमुख मायावती का कांग्रेस पर निशाना।

    0
    208

    लखनऊ 18 मई 2020 औरैया हादसे के बाद प्रवासी मजदूरों को लेकर सियासत जारी है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व सीएम अखिलेश के बाद अब मायावती ने कामगारों की उपेक्षा को लेकर सवाल खड़े किए हैं। मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा है कि बेहतर यही होगा कि कांग्रेस पार्टी अपनी 1000 बसें पहले यूपी भेजने की बजाए पंजाब और चंडीगढ़ भेजेताकि श्रमिकों को आसानी से उनके घरों तक पहुंचाया जा सके।

    बसपा प्रमुख ने कहा-भाजपा-शासित राज्यों में भी प्रवासी मजदूरों की लगातार उपेक्षा होने के कारण श्रमिकों के परिवारदुर्घटना का शिकार हो रहेहैं। जबकि इससे कांग्रेसी नेताओं को भी सबक सीखना चाहिए क्योंकि पंजाब औरचंडीगढ़ सेयूपी के मजदूर सरकार की अनदेखी औरउपेक्षा झेल रहे हैं। यहां से लोगयमुना नदी के जरिए भी घर वापसी कर रहे हैं, जिनके साथ कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है।

    प्रवासी मजदूरों के लिए खाने पीने का प्रबंध करें कांग्रेसी
    मायावती ने कहा कि ऐसे में बेहतर होगा कि कांग्रेस अपनी 1,000 बसों के जरिएयमुना नदी में जान जोखिम में डालकर आने वालों की मदद करे। ताकि सब लोग सड़क मार्ग सेसुरक्षित यूपी पहुंचें। इसी प्रकार कांग्रेसी नेता दिल्ली में मजदूरों से मिलने के दौरानकुछ आर्थिक मदद औरखाने की व्यवस्था भी कर देते तो उन्हें थोड़ी राहत जरूर मिल जाती। कांग्रेस को उनके दुःख-दर्द को बांटने के साथ-साथ बसपाकी तरह उनकी कुछ मदद भी जरूर करनी चाहिए।
    प्रियंका गांधी ने यूपी में 1000 बसें चलवाने के लिए योगी को लिखा था पत्र।
    औरैया में शुक्रवार कोहादसे में 24 मजदूरों की जान गई है। ये लोग ट्रकों में बैठकर घर जा रहे थे। इसे देखते हुएकांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मजदूरों के लिए बसें चलाने की अनुमति मांगी है। प्रियंका नेपत्र में लिखा- पलायन करते हुए, बेसहारा प्रवासी श्रमिकों के प्रति कांग्रेस अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए500 बसें गाजीपुर बाॅर्डर गाजियाबाद और 500 बसें नोएडा बाॅर्डर से चलाना चाहती है। इसका पूरा खर्चा कांग्रेस पार्टी करेगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here