पोषण दिवस पर माताओं ने जाने बच्चों के सेहतमंद रहने के गुर

    0
    283

    लखनऊ, 21 मई 2020।
    बच्चा यदि भूखा है, तो वह बार–बार मुंह में हाथ डालता है, बार-बार साड़ी का पल्लू खींचता है, रोता है और खाने की तरफ लपकता हैं। यह कुछ संकेत हैं जो हर मां को समझना चाहिए। यह बातें मलिहाबाद ब्लॉक की सदरपुर क्षेत्र की आँगनवाड़ी कार्यकर्ता संगीता ने केंद्र पर आयी महिलाओं को ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस (वीएचएनडी) के अवसर पर बता रही थीं | संगीता ने बताया, आज केंद्र पर 3 गर्भवती महिलाएं टीटी का टीका लगवाने के लिए आयीं थीं। उन्हें मैने गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक खान पान का सेवन करने कैल्शियम और आयरन की गोली का सेवन करने की सलाह दी। साथ ही 6 माह से ऊपर के बच्चों की माताओं को बताया कि 6 माह के बाद बच्चों को माँ के दूध के साथ ऊपरी आहार शुरू कर देना चाहिए। बच्चे को अलग कटोरी और चम्मच से खाना खिलाना चाहिए ताकि आप जान सकें कि बच्चा कितना खा रहा है। बच्चे को उसकी आयु के अनुसार खाना दें , खाना खिलाने में जबरदस्ती न करें। भोजन में तेल/घी डाल कर उसका घनत्व (Density) बढ़ायें । एक बार में एक ही तरह का भोजन दें। भोजन का प्रकार व मात्रा धीरे-धीरे बढ़ायें।
    संगीता ने बताया आज केंद्र पर कुल 4 बच्चों के टीके लगे। बाल विकास परियोजना अधिकारी निरुपमा ने बताया, लॉक डाउन के बाद अब धीरे धीरे सेवाएं शुरू हुयी हैं। अभी रेड जोन में सेवाएँ स्थगित हैं। केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है साथ में सभी को मास्क लगाने की सलाह भी दी जा रही है। हमारी कार्यकर्ताएं केंद्र पर व घर-घर जाकर लोगों को मास्क लगाने, 2 गज की दूरी बनाये रखने और बार बार 40 सेकेण्ड तक साबुन से हाथ धोने के प्रति सभी को जागरूक कर रही हैं। साथ ही वह लोगों को घर पर ही रहने की सलाह दे रही हैं कि जहाँ तक संभव हो घर पर ही रहें।
    इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेन्द्र दुबे ने कहा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता निगरानी समिति की सदस्य भी हैं। वह मातृ व शिशु देखभाल के साथ निगरानी समिति के सदस्य के रूप में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here