तालीम के साथ खेल भी बहुत जरूरी-पूर्व क्रिकेटर सैय्यद किरमानी

    0
    479

    लखनऊ 16 फरवरी 2020 शिया पी.जी. कालेज में आज किंग नसीरुद्दीन हैदर स्टेडियम का उद्धघाटन भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेट कीपर सैय्यद किरमानी ने रिबन काट कर किया ।

    इस अवसर पर बोलते हुए किरमानी ने कहा कि इल्म और खेल ही हमें जीवन सिखाते हैं। समाज में एक सजग, तरक्कीपसंद, विनम्र और मानवीयता को समझने वाले व्यक्ति का निर्माण केवल शिक्षा और खेल के माध्यम से ही किया जा सकता है। वर्तमान समय में शिक्षण संस्थान समाज के ’लाईट हाउस’ हैं और इनकी उपयोगिता और गुणवत्ता बनाये रखने की हम सबकी जिम्मेदारी है।

    आल इंडिया शिया पर्सनल लाॅ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि किंग नसीरुद्दीन हैदर की ज़मीन पर शिया कॉलेज बना है और अब शिया कॉलेज ने उनके नाम से क्रिकेट स्टेडियम बनाकर अपने बुजुर्र्गो के प्रति सम्मान की मिसाल प्रस्तुत की है । उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ खेलों का आयोजन समाज में तालीम के सही उपयोग की प्रयोगशाला है। इसी से हमें नफरतों को मिटाकर उम्मीदों के दिये जलाने की प्रेरणा मिलती है। किसी भी तालीम का मुख्य मकसद प्रेम, भाईचारा और मानवता को बढ़ावा देने का होना चाहिये, जिसे शिया पी.जी. कालेज अपने स्थापना से अब तक बखूबी निभाता आ रहा है।
    महाविद्यालय के प्रबंधक सै. अब्बास मुर्तजा शम्सी ने कहा कि तालीम पतंग की उस डोर की तरह होती है, जिससे जुड़कर पतंग आसमान की ऊंचाईयों को छूती है। अतः तालीम ही वह जरिया है, जिससे जुड़कर समाज का हर व्यक्ति तरक्की की नई ऊंचाईयों को छू सकता है।
    इस अवसर पर प्रोफेसर अज़ीज हैदर प्रेसीडेंट शिया कालेज बोर्ड आफ ट्रस्टीज, चैधरी शरीफुल हसन, वाइस प्रेसीडेंट शिया कालेज बोर्ड आफ ट्रस्टीज, सै. एस.एच. तकवी, मेंबर शिया कालेज बोर्ड आफ ट्रस्टीज, पराग दूध के पूर्व जनरल मैनेजर श्री अता हुसैन रिज़वी संबोधित किया। कार्यक्रम की शुरूआत तिलावते कुरान साथ की गई।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here