तरक्क़ी की ऊंची उड़ान के लिए शिक्षा से जुड़े रहना जरूरी- सैय्यद अब्बास मुर्तज़ा शम्सी

    0
    406

    लखनऊ 11 फरवरी 2020 शिया पी.जी. कालेज में आज अंतरमहाविद्यालयीय सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘‘एक्सप्रेशन: यूथ फेस्ट 2020’’ का विविध प्रतियोगिताओं के साथ आगाज किया गया।
    ‘‘एक्सप्रेशन: यूथ फेस्ट 2020’’ का उद्घाटन वरिष्ठ आई.ए.एस डाॅ. हरिओम ने किया।

    उन्होंने कहा कि इल्म और तालीम ही हमें जीवन जीने का ककहरा सिखाते हैं। समाज में एक सजग, तरक्कीपसंद, विनम्र और मानवीयता को समझने वाले व्यक्ति का निर्माण केवल शिक्षा के माध्यम से ही किया जा सकता है। वर्तमान समय में शिक्षण संस्थान समाज के ’लाईट हाउस’ हैं और इनकी उपयोगिता और गुणवत्ता बनाये रखने की हम सबकी जिम्मेदारी है।
    आल इंडिया शिया पर्सनल लाॅ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि शिक्षा के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन समाज में तालीम के सही उपयोग की प्रयोगशाला है।

    इसी से हमें नफरतों को मिटाकर उम्मीदों के दिये जलाने की प्रेरणा मिलती है। किसी भी तालीम का मुख्य मकसद प्रेम, भाईचारा और मानवता को बढ़ावा देने का होना चाहिये, जिसे शिया पी.जी. कालेज अपने स्थापना से अब तक बखूबी निभाता आ रहा है।
    महाविद्यालय के प्रबंधक सै. अब्बास मुर्तजा शम्सी ने कहा कि तालीम पतंग की उस डोर की तरह होती है, जिससे जुड़कर पतंग आसमान की ऊंचाईयों को छूती है। अतः तालीम ही वह जरिया है, जिससे जुड़कर समाज का हर व्यक्ति तरक्की की नई ऊंचाईयों को छू सकता है।
    इस अवसर पर चैधरी शरीफुल हसन, वाइस प्रेसीडेंट शिया कालेज बोर्ड आफ ट्रस्टीज, सै. एस.एच. तकवी, मेंबर शिया कालेज बोर्ड आफ ट्रस्टीज, मौलाना एज़ाज अतहर आदि ने भी छात्रों को संबोधित किया। कार्यक्रम की शुरूआत तिलावते कुरान और कालेज गीत के साथ की गई। यूथ फेस्ट 2020 की सह संयोजिका डाॅ. ज़रीन जे़हरा रिजवी ने यूथ फेस्ट-2020 के विविध प्रतियोगिताओं की रूपरेखा प्रस्तुत की। उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के वाइस प्रिंसिपल डाॅ. नज़मुल हसन रिज़वी ने की तथा संचालन यूथ फेस्ट के संयोजक डाॅ. सरवत तकी ने किया।
    डाॅ. सरवत तकी ने बताया कि आज के कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण डिबेट, एक्सटेम्पोर, रंगोली, पोस्टर मेंकिग, फिल्म रिव्यू, फेस पेंटिंग, स्लोगन राइटिंग, फोटोग्राफी की प्रतियोगिताएं रहीं। इन सभी प्रतियोगिताओं में कुल 17 कालेजों की टीमों से 100 से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। यूथ फेस्टिवल के आकर्षण की केन्द्रविन्दु रही रंगोली, जिसमें 10 कालेजों की टीमों के 50 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लेकर ‘‘इक्वलिटी’’ थीम पर तरह-तरह के रंग भरे।
    वाद-विवाद प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डाॅ. प्रशांत कुमार त्रिवेदी (गिरी इंस्टीट्यूट), डाॅ. मनीष हिंदवी (विद्यांत कालेज) और अरसाना आनंद (वरिष्ठ पत्रकार) रहे। एक्सटेम्प्री में डाॅ. शालिनी सिंह, डाॅ. सीमा सिंह, श्री शबाहत हुसैन विजेता, पोस्टर मेकिंग में श्री ऋषि श्रीवास्तव, आनंद शर्मा, रंगोली में शिल्पी चैधरी, मोनिका परिहार और मीना राना, स्लोगन राइटिंग में आरजे रफत, फिल्म समीक्षा में सचिन त्रिपाठी ने निर्णायक की भूमिका में रहे।
    डाॅ. सरवत तकी ने बताया कि यूथ फेस्ट के क्रम में कल बुधवार को गज़ल, मेंहदी, नुक्कड़ नाटक, एसयूपीडब्लू, कोलाज मेकिंग, शार्ट फिल्म की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। अंत में पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया जायेगा, जिसकी मुख्य अतिथि डाॅ. मधुरिमा लाल, डीन, सीडीसी, लखनऊ विश्वविद्यालय होंगी। समारोह में दोनों दिनों में विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करने वाले विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जायेगा।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here