Array

जश्न ईद मीलादुन्नबी मनाना सहाबा और एहलेबैत की सुन्नत “अयूब अशरफ किछौछवी”

लखनऊ 01/11/2019, आल इण्डिया मोहम्मदी मिशन के जेरे एहतमम जश्न ईद मीलादुन्नबी व मिशन की जिम्मेदारान व अन्जुमन की मीटिंग हुसैन बाड़ी, लखनऊ में सैयद अयूब अशरफ अध्यक्ष आल इण्डिया मोहम्मदी मिशन की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई मीटिंग को खिताब करते हुए सैयद अयूब अशरफ किछौछवी ने कहा ईद मीलादुन्नबी मनाना नबी-ए-करीब सल्ललाहो अलेही वसल्ल की सुन्नत है उन्होंने कहा कि पैगम्बर मोहम्मद सल्ललाहो अलेही वसल्ल पीर के रोज रोजा रखा करते थे जिस पर सहाबा एकराम ने अर्ज़ किया या रसूल्लाह आप हमेंशा पीर (सोमवार) के रोज क्यों रोज़ रखते है और इसकी क्यो फज़ीलत है इसके जवाब में हुजूर ने फरमाया कि इस रोज अल्लाह ताला ने दुनिया के लिए मेरी विलादत फरमाई यह बात सुनकर सहाबा बहुत खुश हुए और रसूलल्लाह की विलादत पर जश्न मनाने लगे और महफिल सजाने लगे। उसके बात यह सिलसिला औलिया ए एकराम से होता हुआ हम तक पहुचा। इस तरह जश्न ईद मिलादुन्नबी मनाना सहाबा और औलिया अल्लाह की सुन्नत है। जिसको हम एहले सुन्नत वल जमात के लोग कल बरोजे कयामत तक इस सुन्नत को जिन्दा रखेगें | इस मौके पर मौलाना सैयद अबु बकर शिब्ली अशरफ ने अपने खिताब में कहा कि क़ुरआन मे अल्लाह ताला ने खुद इरशाद फरमाया के ए मेरे महबूब मैने आपके जिक्र को बुलन्द कर दिया। जिससे साबित होता है कि नबी-ए-करीम का जिक्र करना अल्लाह की सुन्नत है उन्होंने खिताब करते हुए फरमाया कि महशर के दिन जब हर किसी को अपनी अपनी फिक्र होगी और सब लोग यह सोचेगें कि किसी के पास जाए और किससे हम लोग अपने लिए सिफारिश करवाए, इसी गौरो फिक्र में लोग अल्लाह के नबीयों के पास जाएगे। और तमाम नबी हमारे आका मौला सल्लाहो अलेही सल्ललम के पास शफाअत के लिए भेजेगे। अहमद मियाॅ ने बताया कि कल 2 नवम्बर 2019 को बाद नमाज़ मगरिब से रात 10 बजे तक मदरसा अशरफिया बरकाते रज़ा व मख्दूम अशरफ अराबिक स्कूल बालागंज के बच्चों का सालाना जश्न ईद मिलादुन्नबी का प्रोग्राम रखा गया है।[tps_footer][/tps_footer]

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,434FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles

Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial