जनाबे फ़ातिमा ज़हरा स0अ0 की शख्सीयत बेमिसान-मौलाना शबीहुल हसन

0
86

लखनऊ 17  जनवरि 2021 हुसैनिया जन्नत मआब सैयद तक़ी स्थ्ति अकबरी गेट में कार्यालय आयतुल्लाह सैयद सादिक़ हुसैन शीराज़ी के तत्वधान में तीन दिवसीय मजालिस का सिलसिला जनाबे फातिमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा की शहादत की मुनासिबत से जारी है। जिसकी दूसरी मजलिस ठीक सात बजे शाम में शुरू हुई। मजलिस का आरम्भ तिलावते कलामे पाक से हुआ और शोअराए केराम ने बारगाहे सैयदा जनाबे फातिमा सलामुल्लाह अलैहा में नज़रानए अक़ीदत पेश किया मजलिस को आलीजनाब मौलाना शबीहुल हसन साहब किब्ला ने सम्बोधित किया जिसमे उन्होने जनाबे फातिमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा की शख्सीयत और उनकी सीरत के कुछ नुकात बयान फरमाते हुए कहा कि अगर आप ना होती तो ना इस्लाम कामयाब होता और ना ही मुसलमानो को इज़्ज़त नसीब होती लिहाज़ा हर मुसलमान की ज़िम्मेदारी है कि जहा भी वह है शहज़ादी की अज़मत से दूसरो को अवगत करायें और आखिर में मसायब जनाबे फातिमा सलामुल्लाह अलैहा को बयान किया मजलिस में मोमनिन बड़ी संख्या में षिरकत की। बादे मजलिस नज़रे जनाबे सैयदा सलामुल्लाह अलैहा का आयोजन किया गया। कल की मजलिस को आली जनाब मौलाना मुसतफह अली खान साहब किब्ला सम्बोधित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here