जनरल कोच के यात्रियों की बढ़ी सुविधा रेल मदद एप के माध्यम से की जा सकेंगी शिकायतें, तुरंत होगा समस्या का निस्तारण

0
54

बाराबंकी । रेलवे अभी तक आरक्षित टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों की ही शिकायत को प्राथमिकता देता था। अब उन यात्रियों की समस्या भी सुनी और निस्तारित की जाएगी, जो जनरल कोच में यात्रा करते हैं। यदि आप रेलवे के सामान्य कोच में यात्रा करते हैं और आपको लगता है कि आपकी समस्या की सुनवाई नहीं हो रही है तो आप रेल मदद एप की सहायता ले सकते हैं। रेलवे ने जनरल कोच में यात्रा कर रहे यात्रियों की शिकायत को दूर करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। जनरल कोच में यात्रा कर रहे यात्री रेल मदद एप के जरिए अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। जनरल कोच में यात्रा कर रहे यात्री अपने टिकट का नम्बर दर्ज कर शिकायत कर कहीं से भी मदद माँग सकते हैं। अभी तक यह सुविधा आरक्षित टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए ही थी।
रेलवे में अब सभी यात्रियों को क्लीन माई कोच, हेल्पलाइन नम्बर, कोच मित्र और ऑन बोर्ड हाउस कीपिंग सुविधा मिल रही है। इन सभी सेवा के लिए पहले यात्रियों को अलग अलग एप और हेल्पलाइन नम्बर पर शिकायत करना पड़ता था। रेल मदद एप ने शिकायत प्रक्रिया को काफी आसान बना दिया है। इस एप से कोई भी व्यक्ति आसानी से शिकायत कर सकता है।    जनरल कोच में सफर करने वाले यात्री टिकट पर लिखे नम्बर का इस्तेमाल कर रेलवे से मदद माँग सकते हैं। पहले यह नम्बर रेलवे के लिए सिर्फ एक आँकड़ा था, लेकिन अब जनरल कोच के यात्रियों के लिए यह सुविधा का साधन बन गया है।
रेल मदद एप की सहायता से जनरल कोच के यात्री अपने टिकट नम्बर के साथ शिकायत दर्ज करा सकेंगे। आरक्षित टिकट पर यात्रा करने वाले यात्री पीएनआर नम्बर का इस्तेमाल कर रेल मदद एप का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए यात्री को रेल मदद एप डाउनलोड करना होगा। इसके बाद पहले कॉलम पर शिकायत दर्ज करें। यदि यात्रा कर चुके हैं तो टिकट सँभाल कर रखें और उसमें अपने अनारक्षित टिकट का नम्बर दर्ज कर शिकायत सबमिट कर दें। यदि आपके पास शिकायत सम्बन्धी कोई फोटो या वीडियो है तो उसे भी इस एप में अपलोड किया जा सकता है। शिकायतें सीधे रेलवे बोर्ड तक जाएगी। यहाँ से सम्बन्धित विभाग के माध्यम से यात्री को मदद उपलब्ध कराई जाएगी।
रेलवे ने स्टेशनों पर बने रिजर्वेशन काउंटर से जुड़े सॉफ्टवेयर में बदलाव हुआ है। इसका प्रभाव स्टेशनों पर रिजर्वेशन के लिए आने वाले लोगों पर पड़ रहा है। नए प्रपत्र में यात्री को अपना पूरा पता मकान नंबर गली कॉलोनी तहसील का पूरा विवरण देना पड़ रहा है। रिजर्वेशन काउंटर के एक कर्मचारी का कहना है कि ऑफलाइन रिजर्वेशन चालू होने के बाद सॉफ्टवेयर में भी बदलाव किया गया। इसके चलते अब स्टेशनों पर रिजर्वेशन कराने के लिए आने वाले लोगों को अपने गंतव्य से जुड़ी पूरी जानकारी रेलवे को देनी होगी।
स्टेशन अधीक्षक विनय कुमार शुक्ला ने बताया कि यात्रियों की सुविधा ही हमारा धर्म है। एप से शिकायत सुझाव और निस्तारण से यात्रियों का रेलवे के प्रति और विश्वास, प्रेम बढ़ेगा। सभी यात्री अपने मोबाइल में रेल मदद एप डाऊनलोड करेंगे, मेरी सभी से यही अपेक्षा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here