ग्वालियर अस्पताल ने मुस्लिम का शव हिंदू परिवार को सौंप दिया, अंतिम संस्कार के बाद पता चला

    0
    88

    ग्वालियर। जयारोग्य चिकित्सालय में हर रोज कोई न कोई तमाशा होता रहता है। प्रबंधन की लापरवाही दिन में कम से कम 2 बार प्रमाणित होती है। ताजा मामले में एक मुस्लिम परिवार काफी हंगामा कर रहा है। वह आक्रोशित हैं क्योंकि उनके परिजन का शव अस्पताल प्रबंधन ने एक हिंदू परिवार को सौंप दिया। सब प्लास्टिक में पैक था। हिंदू परिवार ने कोविड-19 चलते-चलते बिना चेहरे देखिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया। अब हालात यह है कि हिंदू व्यक्ति का शव अस्पताल में और मुस्लिम परिवार पुलिस थाने में अपने अपने न्याय का इंतजार कर रहे हैं।
    मुस्लिम मृतक के भतीजे अकरम खान के कहा, ”मेरे ताऊजी को किसी जहरीले कीड़े ने काट लिया था। उन्हें 11 अगस्त को जयारोग्य अस्पताल के ट्राॅमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। उनकी 13 अगस्त जो इलाज के दौरान मौत हो गई लेकिन डॉक्टरों ने कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने तक शव देने से मना कर दिया। अस्पताल प्रबंधन ने उनके शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखा था शनिवार रात जब उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई तो हमें डॉक्टरों ने शव ले जाने की लिखित परमिशन दे दी”।

    अकरम के मुताबिक, ”जब हम पीएम हाउस पहुंचे तो वहां मेरे ताऊजी का शव नहीं था। हमने खोजबीन की तो पता चला कि उनका शव किसी दूसरे को दे दिया गया है। हमने पुलिस को फोन किया तो प्रारंभिक जांच में पता चला कि किसी सुरेश चंद्र के परिजन कल एक शव लेकर गए हैं। उन्हें बुलाया गया। पूछताछ में पता चला कि अस्पताल प्रबंधन ने मेरे ताऊ इर्तजा मोहम्मद का शव सुरेश चंद्र के परिजनों को सौंप दिया था”। हिंदू परिवार ने अकरम के ताऊ इर्तजा मोहम्मद के शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया, जबकि सुरेश चंद्र का शव अभी भी जयारोग्य हॉस्पिटल के पीएम हाउस में रखा है।

    कम्पू पुलिस थाना प्रभारी के एन त्रिपाठी ने कहा कि बाथम के परिवार ने बिना चेहरा देखे पॉलीथिन बैग में लिपटे शव का अंतिम संस्कार किया। अब इर्तजा मोहम्मद के परिजन जयारोग्य अस्पताल प्रबंधन और हिंदू मृतक सुरेश चंद्र के परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं। वहीं ग्वालियर पुलिस के अधिकारी एके पठान का कहना है कि जांच में जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here