गोरखपुर में गैंगवार दौड़ा-दौड़ा कर 4 किलोमीटर में चली गोलियां

0
67

गोरखपुर एक कार का पीछा करते हुए तीन-चार बाइक सवार। कार सवार ने बाइक सवारों को धक्का मारने का प्रयास। विशुनपुरवा मोड़ के पास नाले की पुलिया के पास कार टकराकर रुकी। बाइक सवारों ने चारों ओर से कार को घेरा। ताबड़तोड़ दो असलहों से गोलियां चलाना शुरु की, 4 मिनट तक छह-सात राउंड गोली चली। इसके बाद कार सवार पर हमला करने वाले बाइक सवार भागे। हाइडिल मोड़ की मुड़कर जाने की कोशिश, लेकिन वह सड़क गिर पड़े। तभी पीछे से आए कार सवार और कुछ अन्य बाइक सवार मनबढ़ों ने एक युवक को दौड़ाया। पहले पिटाई की। फिर वहां से गोली चलने की आवाज आसपास के लोगों ने सुनी। गोरखपुर की सड़कों पर नज़र आई यह कहानी किसी फिल्म की स्क्रिप्ट नहीं है, बल्कि शहर में सरेराह हुए गैंगवार की सच्चाई है, जिसमें घायल एक युवक को जिला अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया।

दिन दहाड़े हुई वारदात, एक घायल
गोरखपुर पुलिस अभी एक दिन पहले मर्डर के राज का पर्दाफाश करने की जद्दोजहद में उलझी हुई थी कि शहर में एक बार फिर हुई वारदात ने उनके होश गुम कर दिए। दिन दहाड़े सरेराह सोमवार दोपहर करीब दो बजकर 10 मिनट पर हुई यह वारदात एम्स के पास हुई। मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और पड़ताल में लग गई। एसएसपी का कहना है कि बदमाशों ने एक युवक को गोली मार दी है। घटना में शामिल लोगों की तलाश की जा रही है। बाद में मालूम हुआ कि जिसे गोली लगी है। वह प्रॉपर्टी डीलर है। घटनास्थलों से पुलिस ने चार खोखे और एक बाइक बरामद की है। दबिश में पुलिस ने पूछताछ के लिए 20 से अधिक लोगों को उठाया है।

प्रॉपर्टी को लेकर विवाद
घटना में शामिल बदमाशों को यूनिवíसटी हॉस्टल में छिपने की आशंका में पुलिस ने जांच पड़ताल की। दो युवकों को गिरफ्तार में लेकर पुलिस ने थाना भेज दिया है। गोली लगने से घायल युवक की पहचान मेडिकल कॉलेज में भगत चौराहा निवासी प्रॉपर्टी डीलर जितेंद्र यादव के रूप में हुई। प्रापर्टी के विवाद को लेकर सूबा बाजार, खोराबार के रहने वाले शुभम सिंह सिघाड़ा और उज्जवल संग टशन चल रही है। कई दिनों से दोनों गुटों के लोग आमने सामने हैं। रविवार को एक होटल के पास दोनों पक्षों में मारपीट के बाद समझौता हुआ था। इसके पहले भी दोनों पक्ष कई बार आमने-सामने हो चुके हैं।

दरोगा के नाम रजिस्टर्ड बाइक
विशुनपुरवा मोड़ के पास लावारिस हाल मिली बाइक आवास विकास कालोनी में रहने वाले एक दरोगा के नाम से रजिस्टर्ड है। वह कुशीनगर में तैनात हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि दरोगा के परिवार का कोई युवक भी विवाद में शामिल था। घटना के बाद वह बाइक छोड़कर भाग निकला। घटना में शामिल लोगों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। पूछताछ के लिए पुलिस ने 20 से अधिक युवकों को हिरासत में लिया है।
वर्चस्व की लड़ाई
बताया जाता है कि घटना में घायल जितेंद्र के पास तमंचा था। मोहद्दीपुर में गोली चलाने के दौरान तमंचा फट गया। इससे वह घायल हो गया। तभी पीछे से आए हमलावरों में किसी ने उस पर गोली दाग दी जो पेट में जाकर लगी। पुलिस की जांच में सामने आया कि प्रॉपर्टी डीलर्स के दो गुटों के बीच विवाद चल रहा है। खोराबार, सूबा बाजार के सुनील पासवान के साथ अन्य का जुड़ाव है। घायल जितेंद्र कुमार दूसरे गुट का है। भूमि के एक सौदेबाजी में दोनों गुटों के बीच दलाली को लेकर विवाद चल रहा है। जबकि ये दोनों गुट के बदमाश एक दूसरे पर हावी होने की कोशिश करते हैं। बाद में यह भी पता लगा कि घायल जितेंद्र ने अपने साथियों संग मिलकर कार में सवार लोगों पर हमला किया। लेकिन जब कार सवारों ने अपने अन्य साथियों को बुला लिया तो वह सब भागने लगे। बाद में दोनों गुटों के दर्जनभर बाइक सवार जुट गए।

यूनिवíसटी हॉस्टल में ली गई तलाशी
हमलावरों के यूनिवíसटी हॉस्टल में छिपने की आशंका में पुलिस ने तलाशी ली। डीडीयूजीयू के प्रोफेसर्स संग पुलिस टीम पहुंची। संतकबीर हॉस्टल में मिले दो युवकों को पुलिस ने हिरासत में लेकर कैंट थाना भेज दिया। हॉस्टल बंद होने के बावजूद दोनों वहां पहुंच गए थे।
घटनास्थल का मुआयना करने के बाद पता लगा कि जितेंद्र और उसका एक साथी स्कूटी से जा रहे थे। तभी हमलावरों ने उसे गोली मार दी। उसने दो लोगों का नाम बताया है। दोनों को पकड़ने के लिए एसपी सिटी के नेतृत्व में टीम लगा दी गई है। एफआईआर दर्ज करके वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।
जोगेंद्र कुमार, एसएसपी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here