ग़ार की कर्बला की बोसीदा इमारत का जिम्मेदार कौन

    0
    248

    बड़ी बड़ी खूबसूरत इमारतें जो लोगों को अपनी बाहों में ले लेती थीं। आज वह खुद ज़मीन की आगोश में जाने को बेक़रार हैं।इराक में मौजूद रौजो का अक्स लखनऊ में साफ़ साफ़ दिखाई देता है। इराक में मौजूद इमामों के रौजों की नक़ल बखूबी राजधानी में नवाबों ने बनवाई हैं। इनमें इमाम मोहम्मद काजिम अ.स.और इमाम मो. तकी अ.स. के इराक स्थित काजमान रौजे की नक़ल लखनऊ में रौज-ए-काजमैन के रूप में मौजूद है। इसके अलावा इमाम अली अ.स. और इमाम हसन अस्करी अ.स. के सामरा स्थित रौजे की हूबहू नकल यहां गार वाली कर्बला के रूप में मौजूद है।
    मगर अफसोस शहरे लखनऊ की शान कई इमारतें ख़त्म होने के कगार पर हैं। ऐसी ही एक इमारत है ग़ार वाली कर्बला। बुरी तरह जर्जर हो चुकी यह इमारत ज़मीन से मुलाकात को बेताब है। जिम्मेदारान अपनी आंखें बंद किए हुए हैं।
    यह इमारत खदरा स्थित करबला मलका आफ़ाक़ साहिबा (गार वाली करबला) के नाम से मशहूर है।
    इस इमारत का पुरसानेहाल कोई नहीं है। सब नजरों से दिखाई देता है मगर फिर भी नजरअंदाज क्यूं किया जा रहा है। जिम्मेदारान बेमतलब के कामों में समय व्यतीत कर रहे हैं मगर ऐतिहासिक इमारतों को देखने वाला कोई नहीं है।
    अगर ऐसा ही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब ये ऐतिहासिक इमारतें इतिहास के पन्नों में दफ़न हो जायेंगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here