ख़्वाजा गरीब नवाज़ पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले अमीश देवगन के खिलाफ f.i.r. कर तुरंत जेल भेजने की मांग

    0
    71

    लखनऊ दिनांक  19 जून 2020 आज एक प्रतिनिधिमंडल IG( Law & Order) श्री ज्योति निरंजन से मिला और उनको एक ज्ञापन दिया जिसमें News18 के Anchor अमीश देवगन द्वारा हज़रत ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ति ( र०अ०) के सम्बंध में की गई अमर्यादित टिप्पणी पर FIR दर्ज कर उसे तुरंत गिरफ़्तार कर जेल भेजने की माँग की गई।
    प्रतिनिधिमंडल में मेराज हैदर, उरूसा राना, सरफ़राज ज़ाहिद, ग़ुलामहुसैन, शकील सिद्दीक़ी, रिज़वान अली और अलिफ खान पठान शामिल थे।

    मेराज हैदर और उरूसा राना ने कहा एक बिके हुये और अपने ज़मीर का सौदा कर चुके ज़लील और कई मरतबा डिबेट्स में ‘दलाल’ और न जाने क्या क्या बेहूदा टाइटल पाये हुए बेग़ैरत एंकर अमीश देवगन ने जिस तरह पूरी दुनिया में इज़्ज़त और अक़ीदत की नज़र से देखे जाने वाले सूफ़ी बुज़ुर्ग हज़रत ग़रीब नवाज़ ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती की शान में नाज़ेबा अल्फ़ाज़ कहे वो इन्तेहाई मज़म्मत के क़ाबिल हैं और हर मज़हब व मसलक के बा ज़मीर अफ़राद इसकी मज़म्मत और निंदा कर रहे हैं और करना भी चाहिये ।

    ये एंकर क्या जाने ख़्वाजा चिश्ती रहमत उल्लाह अलैहे की अज़मत और बुज़ुर्गी जिन्होनें सूफ़ी रिवायत पर चलते हुये पूरी दुनिया के दिलों को मोहब्बत , अख़लाक़ और ख़िदमत के जज़्बे से जीता । आज भी उनका मज़ार पूरी दुनिया के लोगों के लिये अक़ीदत का मरकज़ बना हुआ है और दुनिया के हर कोने व गोशे से हिन्दू मुसलमान समेत हर मज़हब और मिल्लत के अकीदतमंद उनके मज़ार पर हाज़िरी देना अपना शरफ़ समझते हैं ।

    मीडिया का ख़ास कर न्यूज़ चैनल्स का एक बहुत बड़ा वर्ग सालों से मुसलमानों के ख़िलाफ़ नफरत का वायरस फैला रहा है लेकिन उसके खिलाफ कारवाई करने के बजाये उसको ऐसा करने की पूरी छूट दी गयी है । इनके पास सिर्फ एक मुद्दा है हिन्दू मुस्लिम के बीच ग़लतफ़हमी और नफरत फैलाना , मुसलमानों के ख़िलाफ़ झूठे , बेबुनियाद और भड़काऊ इल्ज़ामात लगाना जो सालों से जारी है । लोगों ने बिके हुये न्यूज़ चैनल्स देखना छोड़ दिये हैं जो सिर्फ़ झूठ और नफ़रत के सौदागर हैं । अब तो ये हिम्मत हो गयी है कि मुल्क के अज़ीम सूफ़ी बुज़ुर्गों के ख़िलाफ़ भी बदतमीज़ी भरे जुमले कहे जा रहे हैं । ऐसे एंकर्स के ख़िलाफ़ जितनी क़ानूनी कार्यवाही हो सकती है हम सबको करना चाहिये क्योंकि अब सिर्फ क़ानून और कोर्ट से ही हमको इंसाफ मिल सकता है ।
    मेराज हैदर। उरूसा राना।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here