कोरोना वायरस-19 की रोकथाम व श्रमिकों/कामगारों के संबंध में दिए सख्त निर्देश: योगी

    0
    116

    लखनऊ  14 मई 2020 उत्तर प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रवासी कामगार/श्रमिक किसी भी दशा में पैदल न आएं, उनके लिए वाहन उपलब्ध करवाए जाएं। सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिकों की स्क्रीनिंग कर उन्हें क्वारंटीन किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में इनके उपचार की व्यवस्था की जाए।

    मुख्यमंत्री जी ने प्रवासी श्रमिकों/कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए वृहद कार्ययोजना बनाने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश भी दिए हैं।

    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों की बहाली के लिए औद्योगिक विकास को बढ़ावा देना आवश्यक है। इसके लिए सेक्टोरल नीतियों का आवश्यकतानुसार सरलीकरण किया जाए।

    नए उद्योगों की स्थापना के लिए भूमि की पर्याप्त उपलब्धता आवश्यक है। इस उद्देश्य से राजस्व तथा औद्योगिक विकास विभाग लैण्ड बैंक स्थापना की कार्ययोजना बनाते हुए उसे लागू करने का काम करें।

    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में रह रहे अन्य राज्यों के श्रमिकों/कामगारों को उनके गृह प्रदेश भेजने के लिए संबंधित राज्य को ऐसे श्रमिकों/कामगारों की सूची उपलब्ध कराई जाए।

    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि दुकानों, मण्डियों, बैंक शाखाओं आदि में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कराया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी लोग मास्क अवश्य पहनें। गांव तथा शहर में सर्विलांस कार्य को और प्रभावी करने के लिए निगरानी समितियों को सुदृढ़ बनाया जाए।

    उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्प लाइन के द्वारा निगरानी समितियों के सदस्यों से संवाद जारी रखा जाए।
    साथ ही निर्देश दिए कि जनपद आगरा , मेरठ तथा कानपुर नगर में लॉकडाउन को कड़ाई से लागू किया जाए।

    प्रदेश में बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार/श्रमिक आ रहे हैं। इसके दृष्टिगत क्वारंटीन की क्षमता को बढ़ाया जाए। कम्युनिटी किचन व्यवस्था को और बेहतर बनाते हुए सभी के लिए पर्याप्त भोजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। यह सुनिश्चित हो कि कोई भी भूखा न रहे।

    मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि क्वारंटीन सेन्टर/आश्रय स्थल पर साफ-सफाई तथा सुरक्षा के पुख्ता इन्तजाम किए जाएं।

    मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि प्रदेश के सभी नर्सिंग होम कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा संबंधी स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराएं।
    साथ ही सभी जनपदों में आवश्यकतानुसार वेण्टीलेटर की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि चिकित्सालयों में PPE किट, N-95 मास्क तथा सेनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता एवं समुचित वितरण सुनिश्चित कराया जाए। कोविड अस्पतालों की संख्या में वृद्धि करते हुए एल-1, एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में 01 लाख बेड की व्यवस्था की जाए।

    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि CM Helpline 1076 के माध्यम से कोविड अस्पतालों के मरीजों के स्वास्थ्य लाभ की जानकारी प्राप्त की जाए।

    उन्होंने पूल टेस्टिंग में वृद्धि करने के निर्देश भी दिए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here