कांग्रेस ही देश चला सकती है। सैय्यद तक़वी

    0
    107

    लखनऊ 29/5/2020

    भारत में बलिदान की देवी का रूप बन चुकी श्रीमती सोनिया गांधी जी के प्रेरणा से पूरे देश में कार्य कर रही अखिल भारतीय सोनिया ब्रिगेड जालिमों के खिलाफ संघर्ष में लगी हुई है।
    अखिल भारतीय सोनिया ब्रिगेड के लखनऊ नगर अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अली तक़वी ने आज एक बयान जारी करके कहा कि
    एक तरफ जहां देश में हर तरफ ज़ुल्म का बोलबाला है सरकार अपनी मनमानी कर रही है श्रमिकों और मजदूरों को कोई पूछने वाला नहीं है। वहीं दूसरी तरफ रोजगार की स्थिति बहुत खराब हो चुकी लोग मरने के लिए मजबूर हो रहे हैं सोशल मीडिया के माध्यम से ऐसी तस्वीरें आ रही हैं कि कुछ गरीब ऐसे लोग जो सड़क किनारे मरे हुए जानवरों का गोश्त खा कर जीवन यापन करने को मजबूर है इससे ज्यादा इस देश के लिए बुरी स्थिति और क्या आ सकती है।
    पिछले 6 सालों में लगातार देश की स्थिति खराब होती चली जा रही है सरकार अपनी असफलता का ठीकरा बार-बार विपक्षी दलों या जनता पर फोड़ रही है। उसके बाद ही जनता समझने का नाम नहीं ले रही । मोदी की भारतीय जनता पार्टी सरकार लगातार कांग्रेस को निशाना बनाती है कि कांग्रेस सरकार ने पिछले 70 सालों में क्या किया लेकिन इन 6 सालों का हिसाब किताब देखा जाए तो जिन क्षेत्रों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार कार्य कर रही है वह सब कांग्रेस द्वारा ही निर्मित किए गए हैं। आज कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण के दौर में पूरे हिंदुस्तान में जिन जिन अस्पतालों में मरीजों का इलाज चल रहा है वह सब कांग्रेस के द्वारा ही बनाए गए कांग्रेस के सरकार में ही बनाए गए क्या भारतीय जनता पार्टी बता सकती है कि उसकी सरकार में किन अस्पतालों का निर्माण हुआ है।
    भारतीय जनता पार्टी की सरकार जिन जिन चीजों को बेच रही है सब कांग्रेस के दौर में ही बनाए गए। जिन हवाई अड्डों को कांग्रेस ने अपने मित्र उद्योगपतियों के हाथों भेज दिया है वह सब कांग्रेस सरकार में ही निर्मित किया गया।
    भारतीय जनता पार्टी की सरकार कितनी ज्यादा असफल है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 70 सालों में कांग्रेस ने क्या किया इसका सवाल और जवाब तो छोड़िए सिर्फ चंद दिनों पहले की बात जिसमें श्रमिकों के लिए कांग्रेस ने हजारों बसों की कतार लगाकर खड़ी कर दी जिससे भाजपा सरकार और प्रदेश की योगी सरकार के हाथ पांव फूल गए। प्रदेश और देश की सरकार इस पर सियासत करने लगी। हिम्मत नहीं पड़ी सरकार की कि बसों को आज्ञा दे सके। बसों को वापस कर दिया यह सरकार की विफलता नहीं तो और क्या है जब विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस पार्टी चंद दिनों में हजारों बसों की सेवा दे सकती है श्रमिकों को अपनी जगह पर पहुंचाने के लिए तो अंदाजा लगाइए कांग्रेस की सरकार होती तो श्रमिकों के लिए कितना काम करती।
    भारतीय जनता पार्टी की सरकार और उनके मंत्री निरंतर ऐसे बयाना देते थे जिससे पूरे देश का माहौल खराब है कोई भी ऐसे बिंदु पर कार्य करने की कोशिश नहीं की जाती जिससे देश का भला हो देश का विकास हो, देश सफलता के रास्ते पर आगे बढ़े।
    मैं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके मंत्रिमंडल टीम से कहना चाहूंगा कि देश सिर्फ बातों से नहीं आगे बढ़ता है या कोई भी कार्य सिर्फ बातों से नहीं होता लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार निरंतर सिर्फ बातें करती है बातों पर अमल नहीं करती सिर्फ हवाई बातें देश के लिए कारगर साबित नहीं होंगे। प्रधानमंत्री महोदय से निवेदन है कि वह देश की भोली-भाली जनता के इमोशन से जज्बातों से खेलना बंद करें जितनी भी तकरीर, भाषण प्रधानमंत्री महोदय के होते हैं उसमें वह देश की जनता के जज्बातों से खेलते हैं जज्बात को भड़का कर उनको अपनी तरफ करने की कोशिश करते हैं। जनता का पेट जज्बातों से नहीं भरता इसके लिए धरातल पर कार्य करना होगा।
    आज राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत हर तरफ से घिरा हुआ है नेपाल जैसे छोटे देश भारत को आंख दिखाने की हिम्मत कर रहे हैं इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी की सरकार के कानों पर कोई जूं नहीं रेंग रही।
    राहत पैकेज के नाम पर जनता को मूर्ख बना रही भारतीय जनता पार्टी सरकार लोन लेने की बात कर रही है। यह कहा जा रहा है कि यदि कोई बच्चा पैदा होता है उसके मां-बाप के पास पैसा नहीं है तो वह बैंक से लोन लेकर अपने बच्चों की परवरिश करे यानि बच्चा पैदा होते ही कर्जदार हो गया क्योंकि वह लोन उस बच्चे के लिए मिलेगा जब बच्चा बड़ा होगा तो उसे पता चलेगा कि उसकी पैदाइश और उसके बाद उसका पालन-पोषण लोन, कर्ज लेकर के किया गया। यह सरकार की कौन सी नीति है।
    मेरी भारतीय जनता पार्टी की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से निवेदन है कि माननीय सोनिया गांधी जी, माननीय राहुल गांधी जी और माननीय प्रियंका गांधी जी द्वारा जो मांग रखी गई है गरीबों के खाते में ₹7500 दिए जाएं और इसके साथ ही साथ मनरेगा को 200 दिन की सेवाएं दी जायें। मेरी प्रार्थना है कि इन मांगों को तुरंत स्वीकार किया जाए। और यदि सरकार इन मांगों को मानने में सक्षम नहीं है तो मेरी भारतीय जनता पार्टी सरकार और विशेष रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से प्रार्थना है कि वह पद से इस्तीफा दे करके अपनी पार्टी में किसी योग्य व्यक्ति को पद का भार सौंपें ताकि वह देश को सुचारू रूप से चला सके।

    सैय्यद एम अली तक़वी,
    नगर अध्यक्ष
    अखिल भारतीय सोनिया ब्रिगेड
    लखनऊ

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here