ऐतिहासिक इमारतों रूमी गेट,शाहनजफ,सिबतैनाबाद की जर्जर अवस्था को लेकर मौलाना यासूब अब्बास को किया सूचित

    0
    83

    लखनऊ दिनांक 20 जून 2020 राजा झाऊलाल सद्भावना मिशन के प्रवक्ता श्री अली मीसम ने लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों जैसे रूमी गेट, शाहनजफ का इमामबाड़ा, हजरतगंज स्थित सिबतैनाबाद का इमामबाड़े के मुख्य गेट को इस आने वाली बारिश को देखते हुए बचाने हेतु अपनी मुहिम के हिसाब से आज ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास से उनके निवास स्थान पर उपरोक्त संबंध में मुलाक़ात की। श्री अली मीसम ने मौलाना यासूब अब्बास को अवगत कराया कि

    1. विश्व प्रसिद्ध रूमी गेट में दरार पड़ जाने की वजह से व उसके नीचे से भारी वाहनों जैसे बस, ट्रक आदि गुज़रने से पैदा होने वाले घर्षण से कभी भी दरार पड़ा हुआ हिस्सा गिर सकता है। जिला प्रशासन तत्काल प्रभाव से इस गेट को मरम्मत करवाए व भारी वाहन जैसे ट्रक ,बस आदि को इसके नीचे से गुजरने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाए ।
    2 .शाहनजफ हजरतगंज इमामबाड़ा जिसकी दीवारों से लखौरिया गिर रही है और अंदर और बाहर का प्लास्टर झड़ रहा है। इस इमामबाड़े की मरम्मत व रंग रोगन कई वर्षों से नहीं हुआ जल्द कराया जाए ।
    3, हजरतगंज स्थित ऐतिहासिक इमारत सिबतैनाबाद का मुख्य गेट जो कि हलवासिया मार्केट के सामने खुलता है जिस पर एक रेस्टोरेंट मालिक ने कई वर्षों से अपना कब्जा जमाया हुआ है उसके नीचे वह गैस चूल्हा जलाकर खाना पकाता आता है हाल ही में उसी की बची ज़मीन पर उस रेस्टोरेंट मालिक ने छोला भटूरा कॉर्नर जिसको बनवाने में मुख्य गेट के अंदर खुदाई करने के पश्चात लॉकडाउन के समय में गिर गया। अली मीसम ने मौलाना यासूब अब्बास को अवगत कराया और बताया कि इस संबंध मे श्री अली मीसम ने जिला प्रशासन को इस संबंध में सूचित किया था कि जल्द से जल्द बारिश आने से पहले इस गेट की मरम्मत करवाई जाए और अतिक्रमण हटवाया जाए अन्यथा बारिश के समय में पूर्ण रूप से गेट ध्वस्त हो जाएगा। जिला प्रशासन की अनदेखी करने पर शिया समुदाय के वरिष्ठ मौलाना व ऐतिहासिक इमारतों से प्रेम करने वालों को इस संबंध में सूचित किया जाएगा। इन ऐतिहासिक इमारतों को मरम्मत न करने पर जीपीओ पार्क लखनऊ पर धरना दिया जाएगा।
    इस संबंध में ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने अली मीसम को आश्वासन दिया कि इस संबंध में जिला प्रशासन से तत्काल प्रभाव से इन इमारतों को मरम्मत करने व सुरक्षित रखने के लिए बात की जाएगी।
    ऐतिहासिक इमारतों की सुरक्षा के लिए जो भी संभव प्रयास होगा वह किया जाएगा और हमारे लखनऊ की शान हमारी ऐतिहासिक धरोहरों को ऐसे मिटने नहीं दिया जाएगा। जिला प्रशासन अगर इस काम को बारिश आने से पहले मरम्मत एवं सुरक्षित करने के लिए योजना नहीं बनाता तो शिया उलेमाओं व ऐतिहासिक इमारतों से प्रेम करने वालों का जो भी निर्णय होगा वह मुझे मंजूर होगा। इस मौके पर मौलाना यासूब अब्बास ने प्रवक्ता श्री अली मीसम के ऐतिहासिक इमारतों की सुरक्षा मरम्मत के कार्य को बढ़ावा देने के लिए धन्यवाद दिया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here