एमएसएमई के तहत सरकारी बैंक जम कर दे रहे लोन, बांट दिए 12,200 करोड़ रु।

    0
    417

    12/06/2020

    नयी दिल्ली। एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम) सेक्टर के लिए सबसे जरूरी चीज है लोन। कोरोना संकट के समय एमएसएमई के लिए लोन और भी जरूरी है। एमएसएमई को इस संकट की स्थिति में मदद करने के लिए सरकारी बैंक आगे आए हैं। सरकारी बैंकों ने एमएसएमई क्षेत्र के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) के तहत 12,200.65 करोड़ रुपये का लोन आवंटित कर दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अनुसार 1 जून से शुरू हुई ईसीएलजीएस के अंतर्गत सरकारी बैंकों ने अब तक कुल 24,260.65 करोड़ रुपये के लोन को मंजूरी दे दी है। पिछले महीने वित्त मंत्री ने मुश्किल में चल रहे एमएसएमई क्षेत्र के लिए ईसीएलजीएस की घोषणा की थी , जो कि 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का सबसे बड़ा राजकोषीय घटक है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here