उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का आचरण अमर्यादित और निन्दनीयः आराधना मिश्रा मोना

0
85

लखनऊ, 29 अगस्त 2020।

उत्तर प्रदेश में हत्या, बलात्कार और लूट की घटनाओं में बाढ़ आ गयी है। योगी सरकार अपने कुछ अधिकारियों के साथ वातानुकूलित कक्ष में बैठक करके अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ले रही है और अपराधी पूरी तरह बेखौफ होकर जब जहां चाहते हैं लोगों को गोलियों का शिकार बना रहे हैं। सरकार कानून व्यवस्था पर नियंत्रण पूरी तरह खो चुकी है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश में ताबड़तोड़ हो रही हत्याओं पर सरकार और पुलिस के नकारात्मक रवैये को जिम्मेदार ठहराया है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि औरैया में पुलिस के नकारापन रवैये ने मनोज दुबे को लील लिया। मनोज दुबे के अपहरण को स्थानीय पुलिस अपनी करनी छुपाने के चक्कर में कई दिनों तक गुमशुदगी का रूप देकर हाथ पर हाथ धरे बैठी रही और अपराधियों ने मनोज दुबे को मौत के घाट उतार दिया। मनोज दुबे का पूरा परिवार योगी सरकार की नाकामी की वजह से आज कराह रहा है।

प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि प्रदेश का कोई ऐसा जनपद होगा, जहां हत्या, लूट और बलात्कार की जघन्य घटना न घटी हो, लखीमपुर, गोरखपुर, बलिया, कानपुर, बनारस, लखनऊ, गाजीपुर, अमरोहा, हरदोई, बाराबंकी, अम्बेडकरनगर, नोएडा, जालौन सहित पूरे प्रदेश की जनता खौफ के साये मंे जीने को मजबूर है। सरकार अपने प्राथमिक दायित्व आम जनता को सुरक्षा देने में पूरी तरह नाकाम है।

कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता श्रीमती आराधना मिश्रा मोना ने योगी सरकार से सवाल किया है कि आखिर प्रदेश में व्याप्त जंगलराज के लिए कौन जिम्मेदार है? योगी सरकार अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकती है।

श्रीमती आराधना मिश्रा ने पत्रकारों के उत्पीड़न के मुद्दे पर एक पत्रकार के सवाल पर उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा उक्त पत्रकार को पत्रकारिता छोड़कर नेतागिरी करने की सीख देने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केशव प्रसाद मौर्य अपने पद की मर्यादा भूल चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी के मंत्री, विधायक और नेता सत्ता के घमण्ड में इस कदर चूर हो चुके हैं कि उलूल-जुलूल बयानबाजी पर उतर आये हैं। जनता सब देख रही है। समय आने पर इनको सबक अवश्य सिखायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here