ईद मिलादुन नबी मनाना ही शिर्क शिकन है: सैयद तलहा अशरफ किछौछवी

0
174

लखनऊ 20 अक्टूबर, 2020, आल इण्डिया मोहम्मदी मिशन के प्रमुख प्रवक्ता सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी ने बताया कि मोहम्मदी मिशन के तत्वाधान में आयोजित जश्ने ईद मिलादुन नबी के दूसरे दिन खतीबे अहले बैत सैयद तलहा अशरफ किछौछवी ने कहा कि 12 रबी अव्वल मुसलमानों के लिए एक अज़ीम तोहफे वाला दिन है। इसको हम कुछ यू समझ सकते हैं कि मुसलमान की पैदाईश से लेकर उसके तीजे, चालीसवा या बरसी, उर्स मनाएं या जश्न मनाएं, फजर ज़ोहर अस्र मगरिब या ईशा, सुबह हो या शाम, हर वक्त वह या नबी या नबी का विरद करता रहता है। इतना अपने नबी का नाम लेता है कि कही कुछ जमाते यह न समझ लें कि यह नबी को कही खुदा तो नहीं समझ रहा है मगर चूंकि मुसलमान नबी का मिलाद मनाता है मिलाद मनाना ही शिक्र शिकन है 8क्योंकि खुदा तख़लीक करता है पैदा होता नहीं। खास बात यह है कि मिलाद सिर्फ मुसलमान ही नहीं मनाता बल्कि अम्बिया एकराम जिनकी तायदाद कमोबेश 1 लाख 24 हज़ार हैं इन्होंने ने भी अपनी उम्मत को मोहम्मदे अरबी के आने की खुशखबरी दी औ साथ ही उन पर ईमान लाने को भी ताकीद की कि अगर उनका ज़माना पा जाओ। जहां तक झण्डा लगाना है यह फरिश्तों की सुन्नत है। जब रसूल दुनिया में तशरीफ लाए फरिश्तों ने खुशी का इज़हार करते हुए आसमान में चारों दिशाओं मंे झण्डा नसब किया, लिहाज़ा हम कह सकते है कि झण्डा लगाना यह फरिश्तों की सुन्नत है।
अपने अध्यक्षीय वक्तव में मिशन के अध्यक्ष सैयद अयूब अशरफ किछौछवी ने कहा कि मोहब्बते ईलाही की दावा रसूल की ज़ात मुबारका है। इस दावे मज़बूत करने के लिए हमें फराएज़ के साथ-साथ नबी सल्लललाओं अलैहि वसल्लम के बताए हुए रास्ते पर चलना है। यानि हमें चाहिए कि पड़ोसी का ख्याल रखें, अपने मुल्क से मोहब्बत करें, यतीमों का सहारा बनना है। समाज में अमन का माहौल कायम करें। रिश्तेदारों से हुस्ने सुलूक रखें। मरीजों का हालचाल लें। समाज को शिक्षित करने में हर सम्भव सहायता करें। भ्रष्ट्राचार से दूर रहें। औरत को उनके हुकुक दें। शराब जैसी गंदी चीज से दूर रहें, दहशतगर्दों से नफरत करें, प्रोग्राम का आगाज़ मोलाना नोमान रज़ा ने तिलावते कुरआन पाक से हुआ, नात ख्वाओ ने नात व मनकबत के शेर पढ़े। इस मौके पर सैयद अरशद अशरफ, सैयद हुसैन अशरफ, सरफराज मुस्तफा, लिमरा एजेंसी के नौशाद और उनकी पूरी टीम, मोहम्मद सलमान, मोहम्मद सलाम वगैरह मौजूद थे। मिशन ने अपने पदाधिकारियों की बैठक 21 अक्टूबर को करेगी जिसमे 12 रबीअव्वल के ताअल्लुक से राय मशवरा होगा। प्रोग्राम मंे कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here