Connect with us

आज के सियासी मौलाना-अफसोस:प्रोफेसर रेहान अहमद अंसारी

Published

on

लखनऊ 9  जून 2020

इस्लाम का वजूद रसूलल्लाह के जरिये जब सामने आया तो सारी दुनिया ने इसकी सादगी भाईचारे की तारीफ की और आपस मे इंसानियत के साथ जिंदगी बसर करने की जो इसकी खुसूसियत थी उसे अपनाया।वैसे तो इस्लाम मे मौलनाओ का कोई वजूद नही है एक मेहनतकश मुसलमान भी तक़वा और परहेज़गारी से सबका रहनुमा हो सकता है।ये दीगर बात है कि कुरान और हदीस को समझ के आम आदमियों को इसकी सीख देने के लिए आलिम ए दीन आए लेकिन वो भी बेहद सादगी पसन्द थे।पर जब एक नज़र आज के मौलानाओ पर डाले तो उनके अमल इस्लाम की सीख के बिलकुल उलट है।वो नमाज़ भी दिखावे की पढ़ रहे रोज़े भी सियासी रख रहे सिर्फ इक़्तेदार और अपने जाती मफाद के लिए।इसका असर ये हुआ कि क़ौम जो इनको अपना रहबर समझती रही वो इनके मज़हबी जाल में फस के गाफिल हो गई और इस्लाम के बताए हुए रास्तो से भटक गई।
आज अखबार में मौलाना ख़ालिद राशिद साहब की नमाज़ पढ़ते फोटो देख कर काफी रंज हुआ ।पता नही कौन शख्स नमाज़ न पढ़ कर फज्र में इनकी फोटो खींच के मीडिया को दे रहा था या खुद इन्होंने ये सब करवाया। इस तरह की हरकतें देख कर ही गैर मुस्लिम क़ौम का मज़ाक उड़ाते है।
आज वक़्त आ गया है कि क़ौम इस तरह के सियासी मौलनाओ से अपने को दूर रखें और अपने और अपने बच्चों की तरबियत रसूलल्लाह के बताए तरीके़ से करे और उन्हें दीन दुनिया दोनों में एक मुक़ाम हासिल करने के लिये आगे बढ़ाए।
क़ौम क्या है क़ौम की इमामत क्या है
ये क्या जाने दो वक्त के इमाम।।

Continue Reading
1 Comment

1 Comment

  1. MOHAMMAD IDREES

    June 9, 2020 at 8:27 am

    Rehaan bhai Khalid Radheed sahaab Maujooda government ko khush kerney key liye sab kertey hai government bhir chahey BJP,SP,BSP Ya kisi ki ho Aur muslims sabhi Rasheed sahab ko fallow nahin kertey hai bus ye government ko dekhna chatey hai ki Muslims merey sath hai Aap ney bhoot accha likha very nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंखयक विभाग की बैठक।

Published

on

आज उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंखयक विभाग की बैठक राष्ट्रिय कोआर्डिनेटर और प्रदेश प्रभारी जनाब मिन्नत्त रहमानी साहब की सदारत में हुई, जिसमे रहमानी साहब ने बैठक को ख़िताब करते हुए कहा कि ये समय कांग्रेस के अल्पसंख्यकों के लिए बड़ा इम्तिहान का समय है उन्होंने कहा कि अल्पसंखयक विभाग के चैयरमैन शहनवाज़ आलम को नाजायज़ तौर पर योगी सरकार ने फ़र्ज़ी मुकदमे में फसां कर जेल भेजने का काम किया है उन्होंने सभी जिला/शहर चेयर मैनों की सराहना करते हुए कहा कि अनैतिक गिरफ्तारी के विरोध में जिस तरह सभी इकाइयों ने पुरे प्रदेश में प्रदर्शन कर विरोध का इजहार किया है वो क़ाबिल ए तारीफ है उन्होंने योगी सरकार के इस कार्यवाही की कड़े शब्दों में निंदा की।
बैठक में राष्ट्रीय सचिव जनाब हंजला उस्मानी साहब ने अपने विचार रखते हुए कहा कि आज सरकार की गलत नीतियों को लोगों तक पहुंचाने की सबसे अहम जिम्मेदारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की है,उन्हें सड़को पर निकल कर आवाज़ उठानी होगी। राष्ट्रिय कोआर्डिनेटर रफत फात्मा जी ने कहा कि समाज को जोड़कर उन्हें पार्टी की नीतियों से अवगत कराना हम सभी कार्यकर्ताओं कार्य है,जिससे पार्टी को ताकत मिल सके।
स्टेट कोआर्डिनेटर और देवीपाटन मंडल के प्रभारी आसिम मुन्ना ने कहा कि पहली बार उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंखयक विभाग ने अपने चैयरमैन शहनवाज़ आलम की अनैतिक गिरफ्तारी के विरोध निरन्तर तीन दिनों तक पूरे प्रदेश में जिले और ब्लॉक स्तर पर धरने/ प्रदर्शन कर इस सरकार का ज़बरदस्त विरोध किया,
और पार्टी के दिशा निर्देशों के तहत आने वाले दिनों सरकार की जनहित विरोधी नीतियों को लेकर संघर्ष तेज़ किया जायेगा। फैज़ाबाद मंडल और स्टेट कोर्डिनेटर अख्तर मलिक साहब ने कहा कि जिस तरह से सरकार अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न करके डराने का काम कर रही है उससे कांग्रेस के कार्यकर्त्ता डरने वाले नही,। बैठक को प्रदेश के पूर्व उपाधयक महबूब उर रहमान किदवाई, पूर्व प्रदेश प्रवक्ता चौधरी सलमान क़ादिर साहब, पूर्व प्रदेश सचिव डाक्टर खलीलुल्लाह साहब जिला अल्पसंखयक चैयरमैन नजमी सिद्दीकी साहब , मो उबैद साहब सहित सैकड़ों लोगों कार्यकर्ताओं ने बैठक में हिस्सेदारी की।

Continue Reading

निशातगंज स्थित रत्नेश श्री अग्रवाल ज्वेलर्स में सभी रिटेलर व्यापारियों की बैठक

Published

on

लखनऊ। गुरु पूर्णिमा के महत्वपूर्ण दिन इंस्पेक्टर महानगर यश कांत सिंह ने निशातगंज स्थित रत्नेश श्री अग्रवाल ज्वेलर्स में सभी रिटेलर व्यापारियों के साथ उनकी समस्या का समाधान करते हुए समस्त रिटेलर व्यापारियों ने 90 दिन की बंदी में जिस प्रकार सुरक्षा उनके प्रतिष्ठान की की गई उसकी प्रशंसा करते हुए उत्तर प्रदेश रिटेलर्स एसोसिएशन अध्यक्ष रत्नेश कुमार अग्रवाल की मौजूदगी में यू पी आर ए मोमेंटो से उनका आभार जताया!

Continue Reading

कांग्रेस पार्टी के प्रत्येक विधानसभा से लगभग 150 कार्यकर्ताओं, कुल 60000 से अधिक नेताओं व कार्यकर्ताओं ने फेसबुक लाइव के माध्यम से योगी सरकार से किये सवाल

Published

on

लखनऊ, 05 जुलाई।
उत्तर प्रदेश में दिनों-दिन ध्वस्त होती जा रही कानून व्यवस्था के खिलाफ आज उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी के निर्देश पर आज प्रदेश के 60 हजार से अधिक नेताओं, कार्यकर्ताओं ने फेसबुक लाइव के माध्यम से कानून व्यवस्था से जुड़े ज्वलन्त मुद्दों पर योगी सरकार से सवाल पूछे।

उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के मीडिया संयोजक ललन कुमार ने बताया कि फेसबुक लाइव के माध्यम से सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया गया है कि यूपी में बढ़ते अपराधों से आमजन के मन में खौफ है। राजनीतिक सरंक्षण की वजह से अपराधियों पर कार्रवाई नहीं हो रही है और वो जघन्य से जघन्य अपराधों को अंजाम दे रहे हैं। अपराधी इस कदर बेखौफ हैं कि कानपुर में आठ पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों की गोली मारकर हत्या कर दी गयी और अपराधी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। कानपुर सहित प्रयागराज, एटा की नृशंस घटनाएं प्रदेश में जंगलराज की कहानी खुद ब खुद बयां कर रही हैं और सरकार सिर्फ बैठकें और हिदायतें देने तक सीमित है।

उ0प्र0 कांग्रेस सोशल मीडिया के इंचार्ज मोहित पाण्डेय ने कहा कि जिस प्रकार प्रदेश में हत्या, लूट, बलात्कार और महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं उससे यह साफ हो गया है कि योगी सरकार का इकबाल पूरी तरह खत्म हो गया है। सरकार आम जनता को सुरक्षा देने में विफल है। योगी राज में अब पुलिस भी सुरक्षित नहीं है ऐसे में आम जनता की सुरक्षा कौन करे, यह यक्ष प्रश्न बन गया है।

फेसबुक लाइव के माध्यम से योगी सरकार से सवाल पूछे गये हैं कि -हत्या, बलात्कार और मासूमों से दरिंदगी का गढ़ बन रहा है यूपी। प्रदेश में लगातार बढ़ती हत्या, लूट एवं बलात्कार पर चुप क्यों है सरकार?

एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार महिलाओं के खिलाफ अपराध में राजधानी लखनऊ सबसे आगे। प्रतिदिन 162 महिलाएं उप्र में हिंसा का शिकार होती हैं। उप्र में हर दो घंटे पर एक महिला का रेप हो जाता है। महिलाओं के प्रति बढ़ते हिंसा पे चुप क्यों यूपी सरकार?

बाल अपराध के मामलों में देश भर में बढ़ोत्तरी हुई है और इस मामले में भी उत्तर प्रदेश सबसे ऊपर है। हर 90 मिनट पर किसी न किसी बच्चे पर हिंसा होती है।

पूरे लाकडाउन में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज एवं बुलंदशहर में सबसे अधिक अपराधिक घटनाएं। शहरों में लगातार बढ़ रहे अपराधों पर कोई लगाम नहीं। उत्तर प्रदेश को अब ‘अपराध प्रदेश’ कहा जाने लगा है। उत्तर प्रदेश में औसतन 13 हत्याएं प्रतिदिन हो रही हैं।

हाईकोर्ट से प्राप्त जानकारी के अनुसार 31 जनवरी 2020 तक उत्तर प्रदेश में एक भी  ‘फास्ट ट्रैक कोर्ट’ का गठन नहीं हुआ है और अभी तक इस मामले किसी भी प्रकार की आधिकारिक सूचना प्राप्त नही हुई है।

दलितों पर अत्याचार लगातार बढ़ते जा रहे है। लगभग 33 घटनाएं प्रतिदिन हो रही हैं। उत्तर प्रदेश में अपराधियों का बेखौफ हो जाना असामान्य घटना है। आखिर जनता की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेगा?

Continue Reading

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.